आज साल का पहला चंद्र ग्रहण शुरू, सारे कष्ट होंगे इस दिन दान करने से दूर

 
v

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। 2022 का पहला चंद्र ग्रहण आज वैशाख पूर्णिमा के दिन लगा। भारतीय समय के अनुसार चंद्र ग्रहण सुबह 7.02 बजे शुरू हुआ और दोपहर 12.20 बजे खत्म होगा। यह चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा, जिस कारण इसकी गर्भ अवधि मान्य नहीं होगी। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार चंद्र ग्रहण को शुभ नहीं माना जाता है। इस बीच राहु और केतु की दृष्टि खराब होगी तो ग्रहण बच जाएगा।

भारत में गर्भधारण की अवधि मान्य नहीं होगी
 इस दिन वैशाख की पूर्णिमा भी है। हिंदू धर्म में भगवान बुद्ध को भगवान विष्णु का नौवां अवतार माना जाता है। बुद्ध पूर्णिमा के दिन पवित्र नदियों में स्नान करना, दान देना और ध्यान करना विशेष महत्व रखता है। भारत में चंद्र ग्रहणों की दृश्यता शून्य होने के कारण यहां गर्भकाल की अवधि मान्य नहीं होगी। गर्भावस्था को ग्रहण का एक अशुभ समय माना जाता है, जिसमें कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है।

आज साल का पहला चंद्र ग्रहण शुरू, सारे कष्ट होंगे इस दिन दान करने से दूर

इस स्थान पर लगेगा चंद्र ग्रहण
साल का पहला चंद्र ग्रहण उत्तर-दक्षिण अमेरिका, अफ्रीका, पश्चिमी यूरोप, अटलांटिक महासागर, प्रशांत महासागर, अंटार्कटिका आदि में देखा जाएगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहण के समय चंद्रमा वृश्चिक राशि में रहेगा इसलिए यह ग्रहण महीनों तक इस राशि के लोगों के जीवन में कई तरह के बदलाव लाएगा। इस राशि के लोगों को नौकरी से लेकर व्यवसाय और निजी जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए सोच-समझकर निर्णय लें।

आज साल का पहला चंद्र ग्रहण शुरू, सारे कष्ट होंगे इस दिन दान करने से दूर

चंद्र ग्रहण का रहेगा स्थायी प्रभाव
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्र ग्रहण का प्रभाव 15 दिन से लेकर 1 महीने तक रहेगा। चंद्र ग्रहण से ग्रहों के प्रभाव से महंगाई बढ़ेगी और लोगों का गुस्सा भी बढ़ेगा। ऐसे में ग्रहण के पूरा होने के बाद दान करना जरूरी है। अपनी राशि के अनुसार दान करना बेहतर रहेगा, इससे आप परेशानियों से बचे रहेंगे।

आज साल का पहला चंद्र ग्रहण शुरू, सारे कष्ट होंगे इस दिन दान करने से दूर

इन बातों का ध्यान रखें
 ग्रहण शुरू होने से पहले खाने और पीने के पानी में तुलसी के पत्ते डाल दें।

ग्रहण के समय तुलसी के पत्तों को मुंह में लेकर हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए।

ग्रहण के बाद स्नान के बाद दान करना चाहिए।

दूध के दान से लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार चंद्र ग्रहण के दौरान व्यक्ति को न तो खाना बनाना चाहिए और न ही खाना चाहिए।

 चंद्र ग्रहण के बाद किसी मंदिर में जाकर भगवान शंकर को सफेद फूल चढ़ाएं, सभी विवादों से मुक्ति मिलेगी।

Post a Comment

From around the web