पुत्रदा एकादशी पर करें ये अचूक उपाय, कष्टों से मिलेगी मुक्ति

 
do these simple things on the day of paush putrada ekadashi all the problems will go away

ज्योतिष न्यूज़ डेस्क: हिंदू धर्म में एकादशी तिथि को विशेष माना जाता हैं वही 13 जनवरी को पौष पुत्रदा एकादशी हैं इस दिन श्री हरि विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा की जाती हैं इस व्रत के पुण्य प्रताप से दंपत्ति को संतान की प्राप्ति होती हैं संतान प्राप्ति की कामना करने वाले साधकों को पौष पुत्रदा एकादशी का व्रत जरूर करना चाहिए पंचांग के अनुसार पौष पुत्रदा एकादशी की तिथि 12 जनवरी को शाम 4 बजकर 49 मिनट पर शुरू होकर 13 जनवरी को शाम में 7 बजकर 32 मिनट पर समाप्त होगी। व्रती 13 जनवरी को दिन के किसी समय भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा कर सकते हैं अगर आप भी जीवन में सुख शांति समृद्धि और संतान सुख चाहते हैं तो पौष पुत्रदा एकादशी के दिन कुछ उपाय कर सकते हैं। 
  
अगर घर में कोई व्यक्ति अथवा पुत्र बीमार है तो पौष पुत्रदा एकादशी के दिन श्री विष्णु के मंदिर जाकर गेंहू या चावल अर्पित करें अब इस अन्न को मंदिर में उपस्थित ब्राह्मण अथवा मंदिर परिसर में उपस्थित लोगों को दान कर दें। इससे घर में मौजूद परेशानियां दूर होती हैं। किसी पुरानी समस्या से संघर्ष कर रहे है और उसका हल नहीं मिल रहा है तो एकादशी के दिन संध्याकाल में पीपल के पेड़ की पूजा आरती करें। इससे सालों पुरानी समस्या से निजात मिलती हैं। 

अगर आप आर्थिक समस्या से जूझ रहे हैं तो एकादशी के दिन तुलसी पौधे की जड़ में शुद्ध घी के दीपक जलाए और तुलसी आरती करें। इससे घर में सुख, शांति और समृद्धि का आगमन होता हैं। विवाहित दंपत्ति संतान प्राप्ति के लिए पौष पुत्रदा एकादशी के दिन श्री कृष्ण की पूजा करें उन्हें लड्डू अर्पित करें साथ ही तुलसी युक्त पंचामृत से स्नान कराएं। भगवान कृष्ण की पूजा आरती के बाद उनसे संतान प्राप्ति की कामना करें। 

Post a Comment

From around the web