इन चार जगहों पर अक्सर सनस्क्रीन लगाना भूल जाती हैं महिलाएं, कहीं लिस्ट में आप भी तो नहीं

 
s

लाइफस्टाइल डेस्क, जयपुर।। हम सनस्क्रीन की अहमियत को जानते हैं, खासकर गर्मियों के दौरान या भारत जैसे ट्रॉपिकल देश में, पूरे साल. ये हमें हानिकारक यूवी किरणों, सनबर्न और हमारी त्वचा को दूसरे संभावित नुकसान से बचाता है. लेकिन भले ही आपको सनबर्न न हो (जिसकी संभावना बहुत कम है), आपको एसपीएफ को नहीं छोड़ना चाहिए. ये त्वचा के कैंसर के जोखिम को भी कम करता है और समय से पहले बूढ़ा होने से रोकता है. तो ये मूल रूप से स्पष्ट है कि आपको मौसम की परवाह किए बिना सनस्क्रीन लगाना चाहिए, लेकिन रुकिए, क्या आप इसे सिर्फ अपने चेहरे पर लगा रहे हैं? हां? तो आइए हम आपको बताते हैं कि अगर आप इन एरियाज से परहेज कर रहे हैं तो आपको त्वचा कैंसर होने का खतरा है.

हम आपको उन जगहों के बारे में बताएंगे जहां चेहरे की तरह ही सुरक्षा की जरूरत होती है. लोग उन्हें नजरअंदाज कर देते हैं लेकिन उन्हें देखभाल और ध्यान देने की भी जरूरत होती है. इसके अलावा, आपको हमेशा 30 या उससे ज्यादा के एसपीएफ वाले सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना चाहिए. ये जानने के लिए नीचे स्क्रॉल करें कि आप किन जगहों को याद कर रहे हैं.

होंठ

होंठ हमारे चेहरे का सबसे नाजुक हिस्सा होते हैं और हमारे शरीर के बाकी हिस्सों की तरह ही सूर्य के रेडिएशन के प्रति ज्यादा संवेदनशील होते हैं. लोग अपने होंठ भूल जाते हैं और इन एरियाज में त्वचा कैंसर आसानी से हो सकता है. इसलिए या तो एसपीएफ वाले लिप बाम का इस्तेमाल करें या फिर अपने चेहरे के सनस्क्रीन को होठों पर लगाएं, ये वही काम करेगा.

s

पलकें

हमारी पलकों को भी सनब्लॉक की जरूरत होती है क्योंकि वो उम्र बढ़ने, महीन रेखाओं और झुर्रियों के लिए अतिसंवेदनशील होती हैं, त्वचा कैंसर का भी जिक्र नहीं है. हालांकि, बहुत से लोग आंखों में सामान जाने के डर से इस एरिया से बचते हैं लेकिन सही एप्लीकेशन और सही सनब्लॉक के साथ आप जाने के लिए अच्छे हैं. एक और टिप, अपनी सनस्क्रीन को घर छोड़ना न भूलें.

कान

आपकी ही तरह मैं भी अक्सर कान भूल जाता था. लेकिन एक बार जब मुझे पता चला कि मैं खुद को किन खतरों में डाल रहा हूं, तो मैंने उन्हें भी कवर करना शुरू कर दिया. क्यूंकि हमारे कान भी खुले हुए हैं और जोखिम में हैं, इसलिए हमें इनसे बचने से पहले दो बार सोचना चाहिए. अपना समय लें और सभी नूक्स और क्रेनियों और कानों के पिछले हिस्से पर भी सनस्क्रीन को ठीक से लगाएं.

हाथ और पैर

हमारे हाथों और पैरों के टॉप हमेशा तभी बाहर निकलते हैं जब हमने दस्ताने या स्नीकर्स नहीं पहने हों. वो सूर्य के प्रकाश के संपर्क में भी आते हैं. या अगर आप बीचेज पर घूम रहे हैं तो आपको अपने पैरों के तलवों पर भी सनब्लॉक लगाना चाहिए. लंबे समय तक संपर्क में रहने से हमारी त्वचा पर झुर्रियां और धब्बे पड़ सकते हैं. यहां त्वचा कैंसर भी डेवलप हो सकता है. अगर आप पूरे दिन बाहर रहने वाले हैं तो अपनी उंगलियों और तलवों को अच्छी तरह से रगड़ें.

गर्दन

गर्दन ढंकने के लिए एक बेहद जरूरी एरिया है और साथ ही ये हमेशा दिखाई देता है. इसमें सैगिंग का खतरा है लेकिन हमें इसे जवान रखना चाहिए. और न केवल आगे बल्कि आपकी गर्दन के पीछे भी. और जब आप इस पर हों, तो अपने सीने से थोड़ा प्यार दिखाएं. क्योंकि आप धूप में बाहर जा रहे हैं और आपको एक आर्मर की जरूरत होगी. सही तरह के सनब्लॉक के साथ, आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है. अपने स्कैल्प को टोपी या दुपट्टे से ढकना न भूलें क्योंकि सूरज आपके स्कैल्प और बालों को नुकसान पहुंचा सकता है.

Post a Comment

From around the web