चर्बी को खत्म करने का रहस्य आयुर्वेद में छिपा है पेट की स, जानिए क्या है वेट लॉस करने का आयुर्वेदिक तरीका

 
चर्बी

जब वजन कम करने की बात आती है तो हममें से अधिकांश लोग अक्सर काफी रचनात्मक हो जाते हैं और वजन कम करने को लेकर लगभग सबकुछ करने को तैयार रहते हैं। यूं तो वजन करने के लिए वजन कम करने के लिए डाइट से लेकर वेट लॉस (Weight Loss) सप्लीमेंट्स तक विकल्पों की कोई कमी नहीं है। मगर आपके लिए कौन सा तरीका सबसे बेहतर है यह समझना अक्सर बेहद मुश्किल हो जाता है। लेकिन हमारे पास कुछ ऐसा है जो आपकी वेट लॉस जर्नी में तेजी लाने और शरीर की चर्बी को कम करने में आपकी मदद करने के लिए बेहद कारगर साबित हो सकता है, जी हां, हम किसी और की नहीं बल्कि आयुर्वेद की बात कर रहे हैं। वजन घटाने की बात हो 

चर्बी

वहीं गार्सिनिया कैंबोगिया कफ दोष को संतुलित करता है, साथ ही वजन घटाने में मदद करने के लिए इसकी सिफारिश की जाती है। गार्सिनिया कैंबोगिया स्वाद को बढ़ाता है, पाचन में सुधार करता है और चयापचय को बढ़ाता है। इस फल को अपनी डाइट में शामिल करने से वजन कम करने में मदद मिलती है।सूखी अदरक या सोंठ के पाउडर (Dry Ginger Powder) में थर्मोजेनिक एजेंट  होते हैं जो वसा जलाने के लिए उपयोगी होते हैं। सूखी अदरक के पाउडर के साथ उबला हुआ पानी की नियमित खपत वास्तव में आपके चयापचय को बढ़ावा देने और अतिरिक्त वसा को जलाने में मदद कर सकती है जिससे आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है।

उद्वर्तन (Udvartana) वजन घटाने के लिए एक लोकप्रिय आयुर्वेदिक उपचार है। यह थैरेपी सेल्युलाईट (Cellulite) की उपस्थिति को भी कम करती है। ऐसे में आप आयुर्वेद चिकित्सक से मिलकर इसके उपयोग को लेकर परामर्श कर सकते हैं। अपने पेट के मूल भाग को कसकर पकड़कर तेज चलना पेट की चर्बी को जलाने का एक प्रभावी तरीका है। सिर्फ इतना ही नहीं पेट की चर्बी को कम करने के लिए योग (Yoga) और पिलेट्स (Pilates) भी एक बेहतरीन रेजिमें है।कार्बोहाइड्रेट का पाचन मुंह में ही शुरू हो जाता है जब मुंह में लार उसके साथ मिलती है। इसलिए खाने को अच्छी तरह चबाना बहुत जरूरी है। 

Post a Comment

From around the web