इस कोरोना काल में ग्रीन teaपीने से के क्या फायदे हो सकते है जाने आज 

 
ग्रीन tea

दुनियाभर में सदियों से ग्रीन-टी का सेवन तमाम तरह के स्वास्थ्य लाभ के लिए किया जाता रहा है, भारत में भी पिछले कुछ दशकों से इसकी मांग तेजी से बढ़ी है। अध्ययनों से पता चलता है कि ग्रीन टी का सेवन कई गंभीर बीमारियों जैसे हृदय रोग, कैंसर और वजन कम करने में बेहद फायदेमंद हो सकती है। इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सस्टेनेबल डेवलपमेंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पानी के बाद चाय, दुनिया में दूसरा सबसे ज्यादा पिया जाने वाला पेय है। ग्रीन टी को इसके फायदों के लिए काफी सालों से प्रयोग में लाया जाता रहा है। ग्रीन-टी अनऑक्सीडाइज़्ड पत्तियों से बनाई जाती है, यही कारण है कि इसमें सबसे ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट और फायदेमंद पॉलीफेनॉल्स का मात्रा पाई जाती है।

ग्रीन tea

दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसी से संबंधित हाल ही में किए गए एक अध्ययन में वैज्ञानिकों ने बताया है कि ग्रीन-टी का सेवन कोरोना संक्रमण से भी सुरक्षित रखने में सहायक हो सकता है। वैज्ञानिकों का दावा है कि ग्रीन-टी में कई ऐसे यौगिक होते हैं जो न सिर्फ कोरोना से मुकाबले में सहायक है साथ ही यह इम्यूनिटी को मजबूती देकर भविष्य में भी इस संक्रमण से सुरक्षा दे सकते हैं। आइए आगे की स्लाइडों में इसके ऐसे ही फायदों के बारे में जानते हैं।अध्ययन के लेखक डॉ सुरेश मोहनकुमार बताते हैं, ''प्रकृति हमेशा से तमाम तरह के गंभीर रोगों के इलाज का खजाना समेटे हुए है।

कोरोना महामारी आने के बाद हम उसी खजाने से इसके उपचार को खोजने के प्रयास में लगे हुए थे। हमने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यम से पहले से ही ज्ञात प्राकृतिक यौगिकों की जांच शुरू की। विभिन्न यौगिकों के अध्ययन के दौरान हमने पाया कि ग्रीन-टी में पाया जाने वाला गैलोकैटेचिन यौगिक कोरोना वायरस से मुकाबले में अच्छे परिणाम दे सकता है। इसे इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भी प्रयोग में लाया जा सकता है, स्वाभाविक रूप से इसमें मौजूद यौगिक कोरोना से मुकाबले के लिए भी शरीर को मजबूती देंगे।

Post a Comment

From around the web