अगर सर्द‍ियों में खाऐंगे ये 3 हेल्दी परांठे, तो स्वाद के साथ सेहत में होंगे ये जबरदस्त फायदे

 
अगर सर्द‍ियों में खाऐंगे ये 3 हेल्दी परांठे, तो स्वाद के साथ सेहत में होंगे ये जबरदस्त फायदे

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। सर्दियों में सब्जियों की भरमार होने से नाश्ते में लोग खासतौर पर परांठा खाना पसंद करते हैं। वहीं लोग अलग-अलग स्टफ्ड परांठा खाते हैं। ऐसे में 3 हेल्दी परांठों की रेसिपी आज हम आपको लिए लेकर आए है। ऐसे में बीमारियों की चपेट में आने का खतरा कम रहेगा। आपकी इम्यूनिटी व पाचन तंत्र इनका सेवन करने से मजबूत बनेगा। ये खाने में टेस्टी होने से इसके साथ ही आपका स्वाद बरकरार रहेगा। आइए जानते हैं इन परांठों को बनाने का तरीका व फायदों के बारे में...

1. इम्यूनिटी बढ़ाएगा गाजर का परांठा
ऐसे में सर्दी, खांसी, जुकाम, मौसमी बुखार व अन्य समस्याओं की चपेट में आने का खतरा कम रहता है। लोग खासतौर पर सर्दियों में गाजर का सलाद, अचार आदि खाना पसंद करते हैं। लेकिन आप इसका परांठा बनाकर भी खा सकती है। तेजी से यह शरीर की रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ाने का काम करता है। आइए जानते हैं गाजर का परांठा बनाने का तरीका...

सामग्री
गेहूं का आटा- 2 कप
गाजर- 1-2 कद्दूकस की हुई
नमक-  स्वाद अनुसार
लाल मि‍र्च- जरूरत अनुसार
हल्‍दी- जरूरत अनुसार
अमचूर पाउडर- जरूरत अनुसार
जीरा- जरूरत अनुसार
तेल- जरूरत अनुसार    

विधि
. सबसे पहले गाजर को कद्दूकस करके उसका पानी निकाल लें।
. पैन में तेल गर्म करके गाजर के साथ सभी मसाले डालकर भून लें।
. 3-4 मिनट तक मसालों को ढककर धीमी आंच पर पकाएं।
. मि‍श्रण अच्‍छी तरह पकने के बाद उसे ठंडा कर लें।
. अलग बाउल में आटा और जरूरत अनुसार पानी डालकर आटा गूंथ लें।
. अब आटे की लोइयां लेकर उसमें 1-2 चम्मच मिश्रण भरकर परांठा बेल लें।
. तवा गर्म करके घी के साथ परांठे को दोनों ओर से सेंक लें।
. इसी तरह बाकी के परांठे बना लें।
. लीजिए आपके इम्यूनिटी बूस्ट परांठे बनकर तैयार है।
. इसे सर्विंग प्लेट में निकालकर चटनी या आचार के साथ सर्व करें।

गाजर परांठा खाने के अन्य फायदे
. इसके सेवन से थकान, कमजोरी दूर होने में मदद मिलती है।
. इसके सेवन से खूब बढ़ता है।
. इसमें मौजूद बीटा कैरोटीन आंखों को हेल्दी रखने में मदद करते हैं।
. गाजर का परांठा खाने से खून साफ होता है। ऐसे में चेहरे पर पड़े मुंहासे, दाग-धब्‍बे जैसी समस्याएं दूर होकर ग्लो आता है।
. इसके साथ ही गाजर परांठा खाने से पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है।

अगर सर्द‍ियों में खाऐंगे ये 3 हेल्दी परांठे, तो स्वाद के साथ सेहत में होंगे ये जबरदस्त फायदे

2. खून की कमी पूरी करे चुंकदर का परांठा
ऐसे में एनीमिया से जूझ रहे लोगों को चुंकदर परांठा का सेवन जरूर करना चाहिए।  चुकंदर आयरन का मुख्य स्त्रोत है। इसके सेवन से शरीर में खून की कमी पूरी होने में मदद मिलती है। आइए जानते हैं इसे बनाने का तरीका...

सामग्री
आटा- 2 कप
चुकंदर- 1
अमचूर पाउडर- जरूरत अनुसार
नमक- स्वाद अनुसार
लाल म‍िर्च पाउडर- जरूरत अनुसार

व‍िध‍ि
. सबसे पहले चुकंदर धोकर कद्दूकस कर लें।
. अब पैन में तेल गर्म करके चुकंदर पकाएं।
. चुकंदर का पानी सूख जाने पर इसमें मसाले मिलाएं।
. 2 मिनट तक पैन को ढककर मसाला पकाएं।
. अब मिश्रण को ठंडा कर लें।
. अलग बाउल में आटा गूंथ कर 10 मिनट अलग रख दें।
. अब इसकी लोइयां बनाकर मसाले का मिश्रण भरकर परांठा बेल लें।
. अब तवा गर्म करके इसमें दोनों ओर से घी लगाकर परांठा सेंक लें।
. तैयार परांठे को अचार, व चटनी के साथ सर्व करें।

3. स्‍क‍िन एलर्जी से बचाएगा मूली परांठा
इसके सेवन से शरीर में जन्म लने वाले बैक्टीरिया मर जाते हैं। ऐसे में स्किन एलर्जी होने से बचाव रहता है। मूली पोषक तत्वों, एंटी-ऑक्सीडेंट व औषधीय गुणों से भरपूर होती है। एक्सपर्ट अनुसार, स्किन एलर्जी से बचाने के लिए मूली परांठा बेहद कारगर माना गया है। आइए जानते हैं मूली परांठा बनाने की रेसिपी...

सामग्री
मूली- 1
धन‍िया- 1 चम्मच (कटा हुआ)
चाट मसाला- 1 छोटा चम्मच
जीरा- 1 छोटा चम्मच
नमक- स्वाद अनुसार
अजवाइन- 1 छोटा चम्मच   
गेहूं का आटा- 2 कप

विधि
. सबसे पहले मूली को कद्दूकस करके उसका पानी निचोड़ लें।
. अब मूली में सभी मसाले मिलाएं।
. अलग बाउल में आटा गूंथ लें।
. अब आटे की लोइयां बनाकर इसमें मूली का मिश्रण भरकर परांठा बेल लें।
. आप चाहे तो 2 लोइयों के अंदर मिश्रण डालकर भी परांठा बना सकते हैं।
. परांठे को तवे पर घी लगाकर दोनों ओर से सेंक लें।
. लीजिए आपका मूली परांठा बनकर तैयार है।
. इसे सर्विंग प्लेट में निकालकर चटनी के साथ सर्व करें।
 

Post a Comment

From around the web