Health Tips: क्या करेला खाने से बिगड़ सकती है सेहत, जानें कैसे?

 
Health Tips: क्या करेला खाने से बिगड़ सकती है सेहत, जानें कैसे?

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। कारमेल स्वाद में बहुत कड़वा होता है। लेकिन यह सेहत के लिए काफी अच्छा माना जाता है। करेला मधुमेह रोगियों के लिए विशेष रूप से फायदेमंद है। स्वस्थ दिल के लिए करेला बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि करेले का ज्यादा सेवन सेहत को नुकसान भी पहुंचाता है। करेले के रोजाना सेवन से सेहत पर बहुत बुरा असर पड़ता है। आज इस लेख में हम स्वास्थ्य पर अधिक करेले के सेवन के प्रभाव के बारे में बताएंगे।

इस विषय पर हमने फैट से स्लिम ग्रुप की सेलिब्रिटी इंटरनेशनल डाइटिशियन और न्यूट्रिशनिस्ट शिखा अग्रवाल शर्मा से बात की, जिन्होंने कहा कि किसी भी स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले पदार्थ का अधिक सेवन हानिकारक है। विशेषज्ञों के अनुसार स्वस्थ रहने के लिए हमें सीमित मात्रा में चीजों का सेवन करना चाहिए। आइए जानते हैं कि करेले खाने से सेहत पर क्या असर पड़ता है। स्वस्थ और फिट रहने के लिए करेले का कितना सेवन करना चाहिए।

करेले के जूस का ज्यादा सेवन करने से पीरियड्स का फ्लो बहुत ज्यादा बढ़ जाता है, क्योंकि इसमें मोमोकारिन होता है। गर्भावस्था के दौरान करेले के सेवन से गर्भपात भी हो सकता है। ऐसे में ज्यादा करेले का सेवन न करें। बच्चे की देखभाल के लिए आप सिर्फ एक गिलास करेले के जूस का सेवन कर सकती हैं। गर्भावस्था के दौरान बिना डॉक्टर की सलाह के कुछ भी न खाएं। साथ ही डॉक्टर की सलाह लें और डॉक्टर के कहे अनुसार ही करें।

लीवर खराब हो सकता है
डायबिटीज के मरीज ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए रोजाना करेले के जूस का सेवन करते हैं। खूब जूस पीने से मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। लेकिन यह लीवर को प्रभावित करता है। इसकी अधिक मात्रा लीवर को नुकसान पहुंचा सकती है। करेले में लेक्टिन होता है, जो लीवर में एंजाइम की मात्रा को बढ़ाता है। इससे लीवर को काफी नुकसान हो सकता है। ऐसे में रोजाना करेले के सेवन से बचना चाहिए। अगर आपको लीवर की कोई बीमारी है तो आपको करेले के जूस से बचना चाहिए।  करेले का सेवन ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है। ऐसे में उन लोगों को करेले का सेवन नहीं करना चाहिए। जिनका ब्लड शुगर कम रहता है। उन्हें करेले का सेवन नहीं करना चाहिए। यह आपके शुगर लेवल को कम कर सकता है।

उल्टी और दस्त की समस्या
करेले का ज्यादा सेवन अक्सर दस्त और उल्टी की समस्या को बढ़ा देता है। ऐसा इसलिए क्योंकि करेले का स्वाद बहुत कड़वा होता है। कई बार करेले को खाना बहुत मुश्किल होता है। मधुमेह के रोगी अपने शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए इसका सेवन करने को मजबूर हैं। जिससे दस्त और उल्टी का खतरा बढ़ जाता है। वहीं बच्चों को ज्यादा करी नहीं खिलानी चाहिए।

पेट में दर्द

करी खाने के कई फायदे हैं। करेले खाने से कई समस्याओं से छुटकारा मिलता है। लेकिन सभी स्वस्थ चीजें आपके लिए अच्छी नहीं होती हैं। किसी भी चीज का ज्यादा सेवन हानिकारक होता है। हमें उम्मीद है कि आपको लेख अच्छा लगा होगा। इस तरह के और लेख पढ़ने के लिए, कृपया हमें टिप्पणियों में बताएं और हमारी वेबसाइट हरजिंदगी पर बने रहें।

Post a Comment

From around the web