Health Tips: बार-बार आती मतली से रहते है परेशान, तो ऐसे पाएं समस्या से राहत

 
Health Tips: बार-बार आती मतली से रहते है परेशान, तो ऐसे पाएं समस्या से राहत

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। बहुत से लोगों को जी मिचलाने की समस्या होती है। जी मिचलाना को जी मिचलाना भी कहते हैं। यात्रा के दौरान सिरदर्द, चिंता, एसिडिटी, चिंता इस समस्या का कारण बन सकती है। लेकिन कई लोगों के मन में यह भी सवाल होता है कि जी मिचलाना क्यों होता है? जानकारों के मुताबिक जी मिचलाने की समस्या पेट खराब होने या पेट से जुड़ी समस्याओं के कारण होती है। साथ ही, जब आप यात्रा करते हैं, तो हवा, धूल और गंदगी नाक और कानों पर पड़ती है, जिससे नाक और कान मस्तिष्क को अलग-अलग संकेत भेजते हैं। इससे जी मिचलाने की समस्या हो सकती है। गर्भावस्था के शुरुआती महीनों में हार्मोनल असंतुलन भी मतली का कारण बन सकता है। तो आइए आपको बताते हैं क्या हैं कारण और कैसे आप इससे निजात पा सकते हैं...

मतली के अन्य कारण
दवाइयाँ लेने के कारण
कई लोगों को बीमारियों से राहत पाने के लिए दवा लेनी पड़ती है। एसिडिटी विभिन्न प्रकार की दवाओं जैसे कीमोथेरेपी, दवाओं, एंटीबायोटिक्स, दर्द निवारक दवाओं के कारण भी हो सकती है। यह आपको उबकाई ला सकता है।

शरीर में दर्द के कारण
इसके अलावा अगर आपके शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द हो जैसे पेट दर्द, अपेंडिसाइटिस, फूड पॉइजनिंग, तो आपको मिचली आ सकती है।

Health Tips: बार-बार आती मतली से रहते है परेशान, तो ऐसे पाएं समस्या से राहत

चिंता के कारण
चिंता और तनाव भी मतली का कारण बन सकते हैं।

शारीरिक संक्रमण के कारण
पित्त में संक्रमण भी मतली का कारण बन सकता है। अगर आपको पेट में इन्फेक्शन है, एसिड बिल्डअप है, डिहाइड्रेशन की समस्या है, तो रात में शराब पीने से भी जी मिचलाने की समस्या हो सकती है।

कैसे मिलेगी राहत?
मतली से राहत पाने के लिए आपको मसालेदार भोजन से बचना चाहिए।
पर्याप्त मात्रा में संतुलित आहार लें।

Health Tips: बार-बार आती मतली से रहते है परेशान, तो ऐसे पाएं समस्या से राहत

खूब सारे तरल पदार्थ और पानी पिएं। यह आपको डिहाइड्रेशन की समस्या से निजात दिलाएगा।
तनाव और चिंता से राहत पाने के लिए आपको पर्याप्त मात्रा में ध्यान और योग का अभ्यास करना चाहिए।

आप नींबू, संतरा, धनिया और अदरक जैसे घरेलू उपचारों को चबा सकते हैं। इससे आपको जी मिचलाने से भी काफी राहत मिलेगी। आप अपने आहार में पुदीना, दालचीनी, लौंग और मुलेठी जैसी चीजों को शामिल कर सकते हैं।

डॉक्टर से संपर्क करें
जी मिचलाने के अलावा, अगर आपको चक्कर आना, शरीर में दर्द, पसीना, सूखापन या डायरिया है, तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। डॉक्टर की सलाह के बिना कोई भी दवा न लें।

Post a Comment

From around the web