Health Tips: कंट्रोल में रहेगा Uric Acid, चार्ट को करें फॉलो, दिखेगा असर

 
कंट्रोल में रहेगा Uric Acid, चार्ट को करें फॉलो, दिखेगा असर

लाइफस्टाइल न्यूज़ डेस्क।।  यूरिक एसिड कई बीमारियों का कारण बनता है। प्यूरीन युक्त खाद्य पदार्थों के अत्यधिक सेवन से शरीर में यूरिक एसिड का निर्माण होता है। यूरिक एसिड खून में घुल जाता है और सीधे किडनी में जाता है और पेशाब के जरिए शरीर से बाहर निकल जाता है। लेकिन अगर आपके शरीर में बहुत अधिक यूरिक एसिड है, तो आपके गुर्दे सारे यूरिक एसिड को फिल्टर करने में असमर्थ हैं। जिससे रक्त में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है। रक्त में यूरिक एसिड के स्तर में वृद्धि से गठिया और गुर्दे की समस्याएं भी हो सकती हैं। अगर आप बढ़े हुए यूरिक एसिड से राहत पाना चाहते हैं तो आपको अपनी डाइट में बदलाव करना होगा। कुछ नियमित खाद्य पदार्थों के सेवन से आप इस बीमारी से राहत पा सकते हैं। तो आइए जानते हैं उनके बारे में...

फल

यूरिक एसिड कई बीमारियों का कारण बनता है। प्यूरीन युक्त खाद्य पदार्थों के अत्यधिक सेवन से शरीर में यूरिक एसिड का निर्माण होता है। यूरिक एसिड खून में घुल जाता है और सीधे किडनी में जाता है और पेशाब के जरिए शरीर से बाहर निकल जाता है। लेकिन अगर आपके शरीर में बहुत अधिक यूरिक एसिड है, तो आपके गुर्दे सारे यूरिक एसिड को फिल्टर करने में असमर्थ हैं। जिससे रक्त में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है। रक्त में यूरिक एसिड के स्तर में वृद्धि से गठिया और गुर्दे की समस्याएं भी हो सकती हैं। अगर आप बढ़े हुए यूरिक एसिड से राहत पाना चाहते हैं तो आपको अपनी डाइट में बदलाव करना होगा। कुछ नियमित खाद्य पदार्थों के सेवन से आप इस बीमारी से राहत पा सकते हैं। तो आइए जानते हैं उनके बारे में...  फल यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए आप फलों का सेवन कर सकते हैं। फल सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद माने जाते हैं। यूरिक एसिड से राहत पाने के लिए आप चेरी का सेवन कर सकते हैं। यह यूरिक एसिड के स्तर को कम करने के साथ-साथ शरीर में सूजन को भी कम करता है। गठिया जैसी समस्या में भी चेरी काफी फायदेमंद होती है। चेरी के अलावा आप स्ट्रॉबेरी, अंगूर, संतरा, अनानास, नाशपाती भी खा सकते हैं। नींबू के सेवन से आप यूरिक एसिड को भी नियंत्रित कर सकते हैं।  हरी सब्जियां हरी सब्जियों के सेवन से आप इस समस्या से निजात पा सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, जब यूरिक एसिड की समस्या बढ़ जाती है, तो कम यूरिक एसिड वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से यूरिक एसिड की वृद्धि को नियंत्रित किया जा सकता है। आप पालक शतावरी जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा आप फूलगोभी, ब्रोकली, गाजर, चुकंदर, खीरा, आलू भी खा सकते हैं।  दुग्ध उत्पाद आप डेयरी उत्पादों का सेवन करके भी यूरिक एसिड को नियंत्रित कर सकते हैं। दूध उत्पाद यूरिक एसिड को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।  बाजरा और ज्वार यूरिक एसिड से पीड़ित मरीजों को कम प्यूरीन आहार खाना चाहिए। आप बाजरा, ज्वार, चावल जैसी चीजों का सेवन कर सकते हैं। साथ ही इसके नियमित सेवन से हार्ट अटैक, स्ट्रोक, टाइप-2 डायबिटीज और मोटापे का खतरा भी कम होता है।  अंडा अंडे में प्यूरीन बहुत कम मात्रा में पाया जाता है। अंडे के सेवन से गठिया की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। इसलिए आप अंडे को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।  ये चीजें न खाएं मांस, मछली और समुद्री भोजन में प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है। इसलिए इन चीजों का सेवन न करें।  कोल्ड ड्रिंक्स सोडा के साथ-साथ चीनी के साथ फलों के रस का सेवन न करें। एस्पिरिन जैसी दवाएं न लें। अगर आपको किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्या है तो डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही इसका सेवन करें। संतुलित आहार लें, बहुत अधिक खाने से वजन बढ़ सकता है और गाउट की समस्या हो सकती है।  शराब से भी दूर न रहें। ब्लैक टी सेहत के लिए भी हानिकारक हो सकती है। पैकेज्ड फ्रूट जूस और चिकन को डाइट में शामिल न करें। इससे आपका यूरिक एसिड भी बढ़ सकता है।  मोटापा नियंत्रित करें अगर आप यूरिक एसिड की समस्या से बचना चाहते हैं तो आपको अपने वजन को नियंत्रण में रखना होगा। मोटापे की समस्या से पीड़ित लोगों को ज्यादा से ज्यादा शारीरिक गतिविधि और व्यायाम के जरिए खुद को स्वस्थ रखना चाहिए। मोटापा यूरिक एसिड की समस्या को भी बढ़ा सकता है।
यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए आप फलों का सेवन कर सकते हैं। फल सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद माने जाते हैं। यूरिक एसिड से राहत पाने के लिए आप चेरी का सेवन कर सकते हैं। यह यूरिक एसिड के स्तर को कम करने के साथ-साथ शरीर में सूजन को भी कम करता है। गठिया जैसी समस्या में भी चेरी काफी फायदेमंद होती है। चेरी के अलावा आप स्ट्रॉबेरी, अंगूर, संतरा, अनानास, नाशपाती भी खा सकते हैं। नींबू के सेवन से आप यूरिक एसिड को भी नियंत्रित कर सकते हैं।

हरी सब्जियां
हरी सब्जियों के सेवन से आप इस समस्या से निजात पा सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, जब यूरिक एसिड की समस्या बढ़ जाती है, तो कम यूरिक एसिड वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से यूरिक एसिड की वृद्धि को नियंत्रित किया जा सकता है। आप पालक शतावरी जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा आप फूलगोभी, ब्रोकली, गाजर, चुकंदर, खीरा, आलू भी खा सकते हैं।

दुग्ध उत्पाद
आप डेयरी उत्पादों का सेवन करके भी यूरिक एसिड को नियंत्रित कर सकते हैं। दूध उत्पाद यूरिक एसिड को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

बाजरा और ज्वार
यूरिक एसिड से पीड़ित मरीजों को कम प्यूरीन आहार खाना चाहिए। आप बाजरा, ज्वार, चावल जैसी चीजों का सेवन कर सकते हैं। साथ ही इसके नियमित सेवन से हार्ट अटैक, स्ट्रोक, टाइप-2 डायबिटीज और मोटापे का खतरा भी कम होता है।

अंडा
अंडे में प्यूरीन बहुत कम मात्रा में पाया जाता है। अंडे के सेवन से गठिया की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। इसलिए आप अंडे को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

ये चीजें न खाएं

यूरिक एसिड कई बीमारियों का कारण बनता है। प्यूरीन युक्त खाद्य पदार्थों के अत्यधिक सेवन से शरीर में यूरिक एसिड का निर्माण होता है। यूरिक एसिड खून में घुल जाता है और सीधे किडनी में जाता है और पेशाब के जरिए शरीर से बाहर निकल जाता है। लेकिन अगर आपके शरीर में बहुत अधिक यूरिक एसिड है, तो आपके गुर्दे सारे यूरिक एसिड को फिल्टर करने में असमर्थ हैं। जिससे रक्त में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है। रक्त में यूरिक एसिड के स्तर में वृद्धि से गठिया और गुर्दे की समस्याएं भी हो सकती हैं। अगर आप बढ़े हुए यूरिक एसिड से राहत पाना चाहते हैं तो आपको अपनी डाइट में बदलाव करना होगा। कुछ नियमित खाद्य पदार्थों के सेवन से आप इस बीमारी से राहत पा सकते हैं। तो आइए जानते हैं उनके बारे में...  फल यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए आप फलों का सेवन कर सकते हैं। फल सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद माने जाते हैं। यूरिक एसिड से राहत पाने के लिए आप चेरी का सेवन कर सकते हैं। यह यूरिक एसिड के स्तर को कम करने के साथ-साथ शरीर में सूजन को भी कम करता है। गठिया जैसी समस्या में भी चेरी काफी फायदेमंद होती है। चेरी के अलावा आप स्ट्रॉबेरी, अंगूर, संतरा, अनानास, नाशपाती भी खा सकते हैं। नींबू के सेवन से आप यूरिक एसिड को भी नियंत्रित कर सकते हैं।  हरी सब्जियां हरी सब्जियों के सेवन से आप इस समस्या से निजात पा सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, जब यूरिक एसिड की समस्या बढ़ जाती है, तो कम यूरिक एसिड वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से यूरिक एसिड की वृद्धि को नियंत्रित किया जा सकता है। आप पालक शतावरी जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा आप फूलगोभी, ब्रोकली, गाजर, चुकंदर, खीरा, आलू भी खा सकते हैं।  दुग्ध उत्पाद आप डेयरी उत्पादों का सेवन करके भी यूरिक एसिड को नियंत्रित कर सकते हैं। दूध उत्पाद यूरिक एसिड को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।  बाजरा और ज्वार यूरिक एसिड से पीड़ित मरीजों को कम प्यूरीन आहार खाना चाहिए। आप बाजरा, ज्वार, चावल जैसी चीजों का सेवन कर सकते हैं। साथ ही इसके नियमित सेवन से हार्ट अटैक, स्ट्रोक, टाइप-2 डायबिटीज और मोटापे का खतरा भी कम होता है।  अंडा अंडे में प्यूरीन बहुत कम मात्रा में पाया जाता है। अंडे के सेवन से गठिया की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। इसलिए आप अंडे को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।  ये चीजें न खाएं मांस, मछली और समुद्री भोजन में प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है। इसलिए इन चीजों का सेवन न करें।  कोल्ड ड्रिंक्स सोडा के साथ-साथ चीनी के साथ फलों के रस का सेवन न करें। एस्पिरिन जैसी दवाएं न लें। अगर आपको किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्या है तो डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही इसका सेवन करें। संतुलित आहार लें, बहुत अधिक खाने से वजन बढ़ सकता है और गाउट की समस्या हो सकती है।  शराब से भी दूर न रहें। ब्लैक टी सेहत के लिए भी हानिकारक हो सकती है। पैकेज्ड फ्रूट जूस और चिकन को डाइट में शामिल न करें। इससे आपका यूरिक एसिड भी बढ़ सकता है।  मोटापा नियंत्रित करें अगर आप यूरिक एसिड की समस्या से बचना चाहते हैं तो आपको अपने वजन को नियंत्रण में रखना होगा। मोटापे की समस्या से पीड़ित लोगों को ज्यादा से ज्यादा शारीरिक गतिविधि और व्यायाम के जरिए खुद को स्वस्थ रखना चाहिए। मोटापा यूरिक एसिड की समस्या को भी बढ़ा सकता है।
मांस, मछली और समुद्री भोजन में प्यूरीन की मात्रा अधिक होती है। इसलिए इन चीजों का सेवन न करें।

कोल्ड ड्रिंक्स सोडा के साथ-साथ चीनी के साथ फलों के रस का सेवन न करें।
एस्पिरिन जैसी दवाएं न लें। अगर आपको किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्या है तो डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही इसका सेवन करें।
संतुलित आहार लें, बहुत अधिक खाने से वजन बढ़ सकता है और गाउट की समस्या हो सकती है।

शराब से भी दूर न रहें। ब्लैक टी सेहत के लिए भी हानिकारक हो सकती है। पैकेज्ड फ्रूट जूस और चिकन को डाइट में शामिल न करें। इससे आपका यूरिक एसिड भी बढ़ सकता है।

मोटापा नियंत्रित करें
अगर आप यूरिक एसिड की समस्या से बचना चाहते हैं तो आपको अपने वजन को नियंत्रण में रखना होगा। मोटापे की समस्या से पीड़ित लोगों को ज्यादा से ज्यादा शारीरिक गतिविधि और व्यायाम के जरिए खुद को स्वस्थ रखना चाहिए। मोटापा यूरिक एसिड की समस्या को भी बढ़ा सकता है।

Post a Comment

From around the web