हाथ-पैर से गर्म सेंक निकलना बढा रहा है परेशानी, तो जानिए इसका देसी इलाज

 
हाथ-पैर से गर्म सेंक निकलना बढा रहा है परेशानी, तो जानिए इसका देसी इलाज

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। गर्मी के महीनों में कई लोगों को पैरों और हाथों के तलवों में सूजन की समस्या हो जाती है, जिसे ज्यादातर लोग एक आम समस्या मानते हैं, लेकिन कभी-कभी पैरों के तलवों में सूजन आ जाती है और वह सूजन भी हो सकती है। गंभीर, जैसे विटामिन बी, कैल्शियम, फोलिक एसिड या कैल्शियम की कमी भी शरीर में कमजोर नसों के कारण हो सकती है, जबकि यह तंत्रिका तंत्र में क्षति या निष्क्रियता के कारण किसी बीमारी का संकेत भी दे सकती है। आदि।

पैरों में जलन के कारणों में से एक न्यूरोपैथी हो सकती है, जो सभी नसों और मोटर न्यूरॉन्स को प्रभावित करती है। इसमें पैरों में दर्द, सूजन, दंश बहुत ही संवेदनशील तरीके से महसूस होते हैं। मधुमेह अधिकांश लोगों के पैरों में सूजन का प्रमुख कारण है, इसलिए अपने चिकित्सक से नियमित रूप से समाधान के लिए पूछना सुनिश्चित करें।

विटामिन बी12 की कमी से भी पैरों और बाहों में झुनझुनी और सूजन हो जाती है। यह उच्च रक्तचाप या कम पानी पीने वाले या अधिक शराब पीने वाले लोगों के कारण भी हो सकता है। यह समस्या किडनी की समस्या या थायरॉइड हार्मोन के निम्न स्तर के कारण भी हो सकती है, सिवाय इसके कि अधिक दवाएं लेने पर। यदि किसी व्यक्ति की रक्त वाहिकाओं में संक्रमण है, तो भी उसके पैर जल सकते हैं।

क्या करें
सबसे पहले खून, पेशाब और अन्य जरूरी जांच कराएं ताकि आपको इस सूजन और झुनझुनी का कारण पता चल सके। अगर यह विटामिन की कमी के कारण है, तो ऐसा आहार और सप्लीमेंट लें जो इस समस्या को खत्म कर सके।

शाकाहारियों को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। उन्हें नियमित रूप से दूध, दही, पनीर, पनीर, मक्खन, सोया दूध या टोफू का सेवन करना चाहिए। मांसाहारी लोगों को अंडे, मछली, चिकन और समुद्री भोजन से भरपूर विटामिन बी12 मिलता है, लेकिन गर्मियों में पर्याप्त मात्रा में इसका सेवन करें।

हालांकि, कभी-कभी यह गर्म चीजों के अधिक सेवन के कारण भी हो सकता है। ऐसे में ठंडक पहुंचाने वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करें, जैसे गन्ने का रस, दही, अनार, लस्सी, खीरा, तरबूज, आम, नारियल पानी, पालक, तुलसी, लीची, नींबू आदि।

सिरका
एक गिलास पानी में 1 चम्मच कच्चा और अनफ़िल्टर्ड सिरका मिलाकर पिएं। ऐसा करने से आपके पैरों की सूजन दूर हो जाएगी।

सेंधा नमक
मैग्नीशियम सल्फेट से बना सेंधा नमक सूजन और दर्द को कम करने में मदद करता है। एक टब गर्म पानी में आधा कप सेंधा नमक मिलाकर उसमें अपने पैर डालें। 10 से 15 मिनट तक पैरों को ऐसे ही रहने दें। ऐसा कुछ दिनों तक नियमित रूप से करें लेकिन मधुमेह, उच्च रक्तचाप या हृदय रोग से पीड़ित लोगों के लिए यह उपाय उपयुक्त नहीं है। इसलिए इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

सरसों का तेल
सरसों का तेल पैरों की सूजन से राहत दिलाने में मदद करता है। एक कटोरी में दो चम्मच सरसों का तेल लें। अब इसमें दो चम्मच ठंडा पानी या बर्फ का एक टुकड़ा डालकर अच्छी तरह मिला लें और फिर पैरों के तलवों पर मालिश करें। ऐसा हफ्ते में दो बार करने से आपको आराम मिलेगा। हाथों और पैरों की मालिश करने से रक्त प्रवाह तेज हो जाता है, जिससे पैरों और हाथों में सूजन और दर्द नहीं होता है।

हल्दी
हल्दी में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पैरों में सूजन और दर्द से राहत दिलाने में मदद करते हैं। हल्दी वाला दूध लें।

लौकी - करेला
करेले के गूदे को पैरों के तलवों पर मलने से सूजन से राहत मिलती है या करेले के पत्तों के रस की मालिश करने से भी लाभ होता है।

मेहदी
मेंहदी में सिरका या नींबू का रस मिलाकर पेस्ट बना लें और इसे नीचे की तरफ लगाएं, पैरों की सूजन गायब हो जाएगी।

बहु मिट्टी
मुल्ता मिट्टी का लेप लगाने से पैरों के तलवों की सूजन भी दूर हो जाती है।

नंगे पैर चलना
सुबह जल्दी उठकर हरी घास पर नंगे पांव चलने से आंखों की चमक बढ़ती है और पैरों में रक्त संचार बढ़ता है, जिससे खुजली और सूजन की समस्या नहीं रहती है।

Post a Comment

From around the web