पथरी और इसके आलावा कई बीमारियों का परमानेंट इलाज है ये चीज़, जानिए इसके फायदे

 
 पथरी और इसके आलावा कई बीमारियों का परमानेंट इलाज है ये चीज़, जानिए इसके फायदे

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। गलत खान-पान के कारण आजकल कई बीमारियां हो रही हैं। जिसमें से पथरी, मधुमेह, थायरॉइड आम समस्याएं हैं। कई लोग इन गंभीर बीमारियों से लड़ रहे हैं। आप न सिर्फ दवाओं से बल्कि आयुर्वेदिक इलाज से भी इससे राहत पा सकते हैं। आज हम आपको एक ऐसे आयुर्वेदिक पौधे के बारे में बताने जा रहे हैं, जो कई औषधीय गुणों से भरपूर है। आयुर्वेदिक गुणों के कारण इसे कई नामों से जाना जाता है। पाथरचट्टा एक आयुर्वेदिक पौधा है। इसे एरोप्लांट, कैथेड्रल बेल्स, लाइफ प्लांट और मैजिक लीफ जैसे नामों से भी जाना जाता है। तो आइए आपको बताते हैं इससे होने वाले फायदों के बारे में...

आयुर्वेद में इसे भस्मपति कहते हैं
पाथरचट्ट को आयुर्वेद में और भी कई नामों से जाना जाता है। इसका इस्तेमाल कई तरह की दवाएं बनाने में भी किया जाता है। आयुर्वेद में इसे भस्मपतिरी, पाशनभेद और पनपुट्टी के नाम से भी जाना जाता है। इसके अलावा इसे चिकित्सा विज्ञान में ब्रायोफिलम पिनाटम कहा जाता है। पाथरचट्टा पौधे की पत्तियों का स्वाद खट्टा और नमकीन होता है।

पथरी और पेट दर्द से राहत दिलाता है
अगर आप पथरी जैसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं तो स्टोनवॉर्ट का पौधा आपके लिए रामबाण साबित हो सकता है। इसका नियमित सेवन करने से आपको पथरी की समस्या से निजात मिल सकती है। इसके पत्तों का सेवन रोज सुबह खाली पेट करें। पथरी से राहत मिलेगी। इसके अलावा पत्थरचित्त के पत्तों का रस निकालकर सोंठ का चूर्ण पी लें। इससे आपको पेट दर्द से भी राहत मिलेगी। पाथरचिट्टा का रस पेट से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में भी मदद करता है।

गुर्दे की समस्याओं के लिए
सदियों से पथरी का इस्तेमाल यूरिनरी प्रॉब्लम के लिए भी किया जाता रहा है। पत्थर का काढ़ा बनाकर उसका सेवन करें। इससे पेशाब में जलन, बार-बार पेशाब आने जैसी समस्याओं से भी राहत मिलेगी। पाइल्स की समस्या के लिए भी पथरचट्टा बहुत उपयोगी माना जाता है।

योनि संक्रमण का इलाज
महिलाओं को योनि में संक्रमण जैसी खतरनाक समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है। इस समस्या में महिलाओं को प्राइवेट एरिया में खुजली, जलन, योनि स्राव का अनुभव होता है। इस समस्या को दूर करने के लिए भी स्टोन बहुत काम आता है। पत्थरचट्टा के पत्तों को उबालकर काढ़ा पीएं। अगर आपको इसका स्वाद पसंद नहीं है, तो आप इसमें थोड़ा सा शहद मिला सकते हैं और काढ़ा पी सकते हैं।

खूनी दस्त के लिए फायदेमंद स्टोन
यह उनके लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। जिन्हें खूनी दस्त है। खूनी दस्त से राहत पाने के लिए पत्तारचट्टा के पत्तों का रस निकाल लें और इसमें एक चुटकी जीरा पाउडर और आधा चम्मच देसी घी मिलाएं। मिश्रण को अच्छी तरह मिला लें। फिर आप इस मिश्रण का सेवन दिन में दो बार कर सकते हैं। स्टोन चिप्स का मिश्रण आपको खूनी दस्त से राहत देगा।

पथरी सूजन और घाव के लिए फायदेमंद होती है
अगर आपकी त्वचा पर किसी तरह की सूजन या घाव है तो आप उसके लिए भी स्टोन का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस समस्या से राहत पाने के लिए पथरी के पत्तों को अच्छी तरह पीस लें। फिर इन पत्तों का पेस्ट बनाकर संक्रमित जगह पर लगाएं। यह आपके दर्द और सूजन को कम करने में भी मदद करेगा। इसके अलावा आप इस पेस्ट से शरीर के रैशेज और खुजली को भी दूर कर सकते हैं।

Post a Comment

From around the web