राजस्थान में बरपा कोरोना का कहर, राजधानी में कोरोना की संक्रमण दर अब 9.29 फीसदी, लोगों के दिलों में खौफ

 
राजस्थान में बरपा कोरोना का कहर, राजधानी में कोरोना की संक्रमण दर अब 9.29 फीसदी, लोगों के दिलों में खौफ

हैल्थ न्यूज डेस्क।। कोरोना महामारी का संक्रमण राजस्थान में अब डराने लगा है. हालत यह है कि हर क्षेत्र से कोरोना के मरीज जयपुर और जोधपुर के अलावा अन्य शहरों में भी मिलने लगे है. संक्रमण की रफ्तार तेजी से जयपुर के अलावा प्रदेश में अब जोधपुर, कोटा, अजमेर, अलवर, प्रतापगढ़, सीकर, श्रीगंगानगर में भी बढ़ रही है. राजस्थान के 33 में से 13 जिले ऐसे थे पांच जनवरी को, जहां संक्रमण की दर एक फीसदी से ज्यादा रही है.

31 दिसंबर को जयपुर में 4520 लोगों की टेस्टिंग की गई थी, जिसमें से 98 की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली थी. वहीं, 5 जनवरी तक टेस्टिंग ढाई गुना से ज्यादा बढ़कर 12 हजार 244 तक पहुंचा दी और इनमें से अब 1138 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है. राजस्थान में सबसे ज्यादा तेजी से केस राजधानी जयपुर में बढ़ रहे है. जानकारों की मानें तो यहां कम्युनिटी स्प्रेड होना शुरू हो गया है. यही कारण है कि यहां 31 दिसंबर को संक्रमण की दर 2.17 फीसदी थी, जो बढ़कर अब 9.29 पर पहुंच गई है. पांच जनवरी को जोधपुर में संक्रमण की दर करीब 7 फीसदी रही. इसे देखते हुए सरकार ने बुधवार देर रात इन दोनों शहरों के लिए अगल से गाइडलाइन जारी की है.

राजस्थान में बरपा कोरोना का कहर, राजधानी में कोरोना की संक्रमण दर अब 9.29 फीसदी, लोगों के दिलों में खौफ

पॉजिटिविटी रेट भी जो 31 दिसंबर तक 0.60 फीसदी थी वह अब बढ़कर 3.33 फीसदी पर पहुंच गई है. चिकित्सा विभाग की रिपोर्ट के अनुसार 31 दिसंबर को पूरे राज्य में करीब 34 हजार लोगों की टेस्टिंग की गई थी, तब प्रदेश में कुल 208 पॉजिटिव केस मिले थे. अब 5 जनवरी तक ये टेस्टिंग बढ़कर 56 हजार 600 पर पहुंच गई और संक्रमित केसों की संख्या बढ़कर 1883 पर पहुंच गई है. अभी राज्य में 65 फीसदी टेस्टिंग बढ़ी है, लेकिन केसों की संख्या में 800 फीसदी का इजाफा हुआ है. राजस्थान में स्थिति यह हो गई कि अब हर एक 10 मिनट में 13 मरीज पॉजिटिव मिल रहे हैं. 

Post a Comment

From around the web