Covid 19: क्या हवा में है कोरोना? अब इस डिवाइस से चलेगा पता, जानें- कैसे काम करती है ये

 
esdg

कई स्टडी में इस प्रकार का दावा किया गया है कि हवा के जरिए भी कोरोना आपको संक्रमित कर सकता है, ऐसे में बंद कमरे में भी किसी दूसरे शख्स की मौजूदगी में भी आपको मास्क पहनना चाहिए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए । इन सबके बीच अब CSIR ने एक ऐसी डिवाइस की खोज की है जो हवा में भी कोरोना की जांच कर सकती है । बताया जा रहा है कि, CSIR की नेशनल एयरोस्पेस लैबोरेटरी ने इस डिवाइस को विकसित किया है ।

नेशनल एयरोस्पेस लैबोरेटरी बैंगलोर के डायरेक्टर जितेंद्र जे जाधव ने बताया है कि, कमरे या हॉल में मौजूद सभी सदस्यों से खुद को क्वारंटी करने का मैसेज भी भेजा जाता है । आपकी जानकारी के लिए बता दें​ कि, इस डिवाइस का नाम “पैन सीएसआईआर एयर सैम्पलर” रखा गया है । आपको बता दें कि, इस डिवाइस को किसी भी कमरे या हॉल में रखा जा सकता है. कमरे की हवा को ये अपनी तरफ खींचता है यदि हवा में कोई वायरस होगा तो वो इस डिवाइस में पहुंच जाएगा ।

हाल ही में CSIR की एक नई स्टडी से पता चला है कि कोरोना वायरस हवा से फैलने वाला संक्रमण है । इसके आगे स्टडी से पता चलता है कि कोरोना होने की संभावना शारीरिक दूरी और मास्क पहनने पर पूरी तरह निर्भर करती है । इससे ये कहा जा सकता है कि अस्पतालों में कोविड और गैर-कोविड क्षेत्रों को बनाना संक्रमण को रोकने के लिए अस्पतालों की एक सफल रणनीति है ।

Post a Comment

From around the web