Omicron पर सरकार का फैसला- एट रिस्क देश के यात्रियों के लिए 7 दिन का क्वारंटीन 

 
Omicron पर सरकार का फैसला- एट रिस्क देश के यात्रियों के लिए 7 दिन का क्वारंटीन 

ट्रेवल न्यूज डेस्क।। 15 दिसंबर से इंटरनेशनल फ्लाइट शुरू करने के फैसले को कोविड-19 वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए टाल दिया गया है। इंटरनेशनल फ्लाइट के फैसले पर एविएशन रेगुलेटर डीजीसीए ने कहा है कि फिलहाल 15 दिसंबर से चालू होने वाली रोक लगा दी गई है। यह फैसला ओमिक्रॉन की वजह से लिया गया है। नई तारीख की घोषणा जल्द की जाएगी। 

एयरपोर्ट पर नई गाइडलाइंस लागू

- बुधवार यानी 1 दिसंबर से कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर जारी की गई गाइडलाइंस सभी एयरपोर्ट और पैसेंजर्स पर लागू हो गई हैं।

- इसके तहत एट रिस्क देशों से आने वाले पैसेंजर्स का आरटी-पीसीआर टेस्ट जरूरी होगा, ट्रैवल हिस्ट्री की भी जानकारी देनी होगी।

- 12 देशों को एट रिस्क कैटेगरी में रखा गया है। यहां से आने वाले पैसेंजर्स का एयरपोर्ट पर कोविड टेस्ट होगा।

- रिपोर्ट आने तक एयरपोर्ट पर ही रुकना होगा, निगेटिव आने पर भी 7 दिन के लिए क्वारंटीन रहना होगा।

Omicron पर सरकार का फैसला- एट रिस्क देश के यात्रियों के लिए 7 दिन का क्वारंटीन 

सूत्रों के मुताबिक मुंबई आने वाले ऐसे सभी यात्रियों को बुधवार से ही कंपलसरी आइसोलेशन फैसिलिटी में भेजा जा रहा है। इसमें आइसोलेशन पीरियड का खर्च पैसेंजर को खुद ही उठाना होगा। महाराष्ट्र सरकार ने एट रिस्क यानी खतरे वाले देशों से आने वाले सभी यात्रियों को 7 दिन का इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन पूरा करना अनिवार्य कर दिया है। इसके लिए प्रशासन ने कुछ होटलों का चुनाव किया है। 

619 दिनों से लगा है बैन

पिछले साल कोरोना लॉकडाउन से 3 दिन पहले 22 मार्च को इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर बैन लगाया गया था। सरकार ने करीब 619 दिन से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर बैन लगा रखा है। 

इस दौरान कहा गया था कि 15 दिसंबर से 14 देशों को छोड़कर रेगुलर इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू हो जाएंगी। 26 नवंबर को बैन खत्म करने की घोषणा की गई थी। 

हालांकि यूके, फ्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड, फिनलैंड, साउथ अफ्रीका, ब्राजील, चीन, मॉरीशस, सिंगापुर, बांग्लादेश, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे और न्यूजीलैंड को इस लिस्ट से बाहर रखा गया था।

Post a Comment

From around the web