आज ही डाईट में शामिल करें ये चीज वेट कन्ट्रोल के साथ गंभीर बीमारीयों से मिलेगा छुटकारा

 
आज ही डाईट में शामिल करें ये चीज वेट कन्ट्रोल के साथ गंभीर बीमारीयों से मिलेगा छुटकारा

हैल्थ न्यूज डेस्क।। आजकल के लाइफस्टाइल में लोगों को बीमारीयां तेजी से अपना शिकार बना रही है, ऐसें में हर कोई अपनी सेहत के बारे में ज्यादा सावधानी बरतता हैं। आपने बाजार में सब्जी मं​डियों में खुब काली गाजर से लेकर बैंगनी गोभी तक देखी होगी लेकिन आज हम आपको काले लहसुन के बारे में बताने जा रहे हैं। सफेद लहसुन का इस्तेमाल खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है लेकिन कम ही लोग काले लहसुन के बारे में जानते हैं और इसके फायदों से भी अंजान है।

सेहत के लिहाज से देखा जाए तो काला लहसुन कई बीमारियों को दूर रखने में मदद करता है। यह उन लोगों के लिए फायदेमंद है, जो कच्चा लहसुन खाने से कतरारे हैं। बता दें कि सफेद लहसुन को फर्मेंट करके इसे तैयार किया जाता है जिसमें ना ही तो तीखी गंध होती है और ना ही तेज स्वाद।  चलिए आपको बताते हैं कि कैसे तैयार किया जाता है काला लहसुन और इसके फायदे...

कैसे बनता है काला लहसुन?
यह रासायनिक प्रतिक्रिया तब होती है जब लहसुन को नम स्थितियों में140 डिग्री फ़ारेनहाइट के कम तापमान में रखा जाता है। यह तापमान और लहसुन की आर्द्र स्थितियां अमीनो एसिड व प्रतिक्रियाओं को ट्रिगर करती हैं, जिससे इसका स्वाद, बनावट और स्वाद बदल जाता है। लहसुन का रंग इसमें मौजूद मेलेनोइडिन नामक यौगिक के उत्पादन से आता है। यह प्रतिक्रिया न केवल रंग बदलती है बल्कि इसकी मजबूत सुगंध, कुरकुरेपन और स्वाद को भी बदल देती है। सफेद लहसुन को कम से कम दो सप्ताह के लिए अलग-अलग तापमान में किण्वित किया जाता है जब तक कि वो काले न हो जाए और छिलका भूरे रंग का न हो जाए।  यह प्रक्रिया तीखे स्वाद को दूर करती है और लहसुन को चबाने योग्य और दोगुना पोषणयुक्त बनाती है।

आज ही डाईट में शामिल करें ये चीज वेट कन्ट्रोल के साथ गंभीर बीमारीयों से मिलेगा छुटकारा

चलिए अब आपको बताते  हैं काले लहसुन के फायदे...

ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाए
इससे खून का थक्का बनने की संभावना कम होती है। काले लहसुन में एलिसिन नामक तत्व होता है जो ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है। 

दिल को रखे स्वस्थ
लहसुन का सेवन करने से दिल के स्वास्थ्य में सुधार और दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है। दिन में एक लहसुन की कली दिल की बीमारियों को दूर रख सकती है!

कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल
कार्डियोवस्कुलर डिजीज का खतरा कम रहता है। रोज सुबह काला लहसुन चबाने से कलेस्ट्रॉल कम होता है।
ब्लड शुगर कंट्रोल
ऐसे में डायबिटीज मरीजों को इसका सेवन जरूर करना चाहिए। यह शरीर में इंसुलिन संतुलन को नियंत्रित करने और शर्करा के स्तर को कंट्रोल करने के लिए बहुत अच्छा है। 

इम्यूनिटी बढ़ाए
इससे मौसमी बीमारियों से बचाव रहता है। यह सेल्स के लिए अच्छा होता है और साथ ही इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मदद करता है। 

कैंसर से बचाव
ऐसे में अगर आप भी कैंसर से बचना चाहते हैं तो काला लहसुन जरूर खाएं। शोध के अनुसार, खाली पेट काला लहसुन खाने से ब्लड, पेट और कोलन कैंसर का खतरा कम होता है। 

वजन घटाए
काले लहसुन में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को कम और शुगर को नियंत्रित करने के साथ-साथ वजन को रम करने में भी मदद करते हैं। इससे मेटाबॉलिजम में सुधार होता है। 

लिवर डिटॉक्स
इससे लिवर डिटॉक्स होता है और यह एलर्जी दूर करने में भी मदद करता है।

Post a Comment

From around the web