राष्ट्रीय स्तर के kabaddi player का लीवर ट्रांसप्लांट सफल

 
V

कोरोना से संक्रमित राष्ट्रीय स्तर के कबड्डी खिलाड़ी का यहां एमजीएम हेल्थकेयर में सफलतापूवर्क लीवर प्रत्यारोपण किया गया। पुडुचेरी के 26 वर्षीय राघुल गांधी का लीवर फेल हो गया था और उनकी हालत लगातार बिगड़ रही थी। बीमारी का पता चलने के दो दिन बाद वह कोमा में चले गए जिसके बाद उन्हें एमजीएम हेल्थकेयर में शिफ्ट किया गया।

गांधी की हालत इसलिए भी बिगड़ी क्योंकि वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। राहत की बात यह रही कि उनके फेफड़े कोरोना के कारण प्रभावित नहीं हुए थे।

इंस्टीट्यूट ऑफ लीवर डिजिज, प्रत्यारोपण और एचपीबी सर्जरी के निदेशक थिआगराजन श्रीनिवासन ने कहा, “हमने यह जानते हुए भी कि प्रत्यारोपण करने से जोखिम हो सकता है, इस चुनौती को स्वीकार्य किया।”

आमतौर पर लीवर प्रत्यारोपण कोरोना से स्वस्थ होने के बाद दो आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आने पर ही किया जाता है।

हालांकि, गांधी की हालत गंभीर थी और 24 घंटे के भीतर उनका प्रत्यारोपण करना जरूरी था। डॉक्टरों के लिए अन्य दिक्कत यह थी कि उन्हें तमिलनाडु में मई में सिर्फ एक ही लीवर डोनर मिला था।

गांधी का लीवर डोनर उनका भाई था। श्रीनिवासन की टीम ने 12 घंटे में उनका लीवर प्रत्यारोपण किया।

डॉक्टरों ने बताया कि गांधी नए लीवर के साथ स्वस्थ हो रहे हैं और उन्होंने कोरोना को भी मात दे दी है। उनकी स्थिति पर अभी और कुछ दिन नजर रखी जाएगी।

— आईएएनएस

Post a Comment

From around the web