अब पुलिस उतरी सडकों पर कोरोना जागरूकता के लिए लोगों से कर रहे अपील, जगह जगह कर रहे फ्लैग मार्च

 
अब पुलिस उतरी सडकों पर कोरोना जागरूकता के लिए लोगों से कर रहे अपील, जगह जगह कर रहे फ्लैग मार्च

हैल्थ न्यूज डेस्क।। कोरोना के केस जिले में लगातार बढ़ते जा रहे हैं. आमजन को जागरूक करने के लिए जिसे देखते हुए बुधवार की रात पुलिस व प्रशासन ने शहर में मुख्य मार्गो से फ्लैग मार्च निकाला. शहर के बाजार और दिनों की अपेक्षा फ्लैग मार्च को देखते हुए रात 8 बजे ही बंद हो गए. अपने प्रतिष्ठानों को सभी व्यापारी बंद कर घर लौट गए.

फ्लैग मार्च में जिला कलक्टर नन्नू मल पहाड़िया, एसपी तेजस्विनी गौतम, एसपी मुख्यालय सरिता सिंह, एएसपी ग्रामीण श्रीमान लाल मीणा, एएसपी रामेश्वर प्रसाद, सीओ अमित कुमार, पुलिस थाना कोतवाली, शिवाजी पार्क, अरावली विहार, एनईबी, महिला थाना, ट्रैफिक पुलिस सहित क्यूआरटी टीम के जवान और नगर परिषद के अधिकारी शामिल थे. यह फ्लैग मार्च पुलिस कंट्रोल रूम से शुरू होकर तीरपोलिया, होपसर्कस, बजाजा बाजार, घंटाघर, नगर परिषद, केडलगंज, बिजलीघर सर्किल आदि मुख्य मार्गो पर निकाला गया. भिवाड़ी पुलिस ने भी को जगह फ्लैग मार्च निकाल आमजन को जागरूकता के लिए पम्पलेट भी वितरित किए.

अब पुलिस उतरी सडकों पर कोरोना जागरूकता के लिए लोगों से कर रहे अपील, जगह जगह कर रहे फ्लैग मार्च

 बिना मास्क के घूमने वाले लोगों का प्रशासन द्वारा चालान किया जाएगा. साथ ही ऐसे लोगों से सख्ती से निपटा जाएगा. उन्होंने आमजन से अपील की कि सोशल डिस्टेंसिंग की पालना के साथ मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करें. जिला कलेक्टर नन्नू मल पहाड़िया ने बताया कि जिले में कोरोना की बढ़ती संख्या को देखते हुए आमजन को जागरूक होकर हमेशा मास्क का प्रयोग करना चाहिए. साथ ही अनावश्यक रूप से घर से बाहर नहीं निकले.

पिछले साल कम हो गया था कोरोना का डर
इसका नया वेरियंट ओमिक्रॉन भी सामने आ गया है. अब कोरोना का संक्रमण फिर से तेजी से फैल रहा है. इसलिए पुलिस  व प्रशासन सतर्कता से कार्य कर रहा है. साल 2020-2021 के शुरूआत में कोविड का प्रसार तेजी से फैला था. हालांकि बाद में कोविड संक्रमण काफी थम गया था. मगर यह अब फिर से तेजी से पैर पसारने लग गया. वरना फ्लैग मार्च पैदल भी निकाला जा सकता था. वहीं बारिश के कारण बाइक सवार पुलिस कर्मी भी फ्लैगमार्च में शामिल नही हो पाए थे. शहर में बुधवार को दिनभर बारिश हो होती रही. जिस कारण पुलिस व प्रशासन को बारिश में ही फ्लैग मार्च निकालना पड़ा. इस कारण फ्लैग मार्च वाहनों में सवार होकर निकाला गया. 

Post a Comment

From around the web