Omicron Variant: रात में पॉजिटिव लोगों को करना पड रहा इन परेशानियों का सामना, डेल्टा से पुरी तरह अलग है इसके लक्षण

 
Omicron Variant: रात में पॉजिटिव लोगों को करना पड रहा इन परेशानियों का सामना, डेल्टा से पुरी तरह अलग है इसके लक्षण

हैल्थ न्यूज डेस्क।। कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट से भारत सहित दुनिया के तमाम हिस्सों में संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। इस नए खतरे को 'वैरिएंट ऑफ कंसर्न' के रूप में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना के वर्गीकृत किया है। ओमिक्रॉन के संक्रमण की भारत में अब तक कुल 35 लोगों में पहचान हो चुकी है। कोरोना के इस वैरिएंट में अध्ययनों से पता चलता है कि 30 से अधिक म्यूटेशन देखे गए हैं जो इसे अब तक का सबसे संक्रामक कोरोना वैरिएंट बताते हैं। इसके अलावा वैज्ञानिकों का कहना है कि वैक्सीनेशन से बनी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी यह शरीर में आसानी से चकमा देने की क्षमता रखता है, जिसको लेकर टीकाकरण करा चुके लोगों को भी विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

डॉक्टरों ने बताया है कि संक्रमितों में रात में कुछ खास लक्षण देखे जा रहे हैं, जिसके आधार पर ओमिक्रॉन के केस का पता लगाना आसान हो सकता है। इस बीच कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने ओमिक्रॉन के कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में लोगों को बताया है, जो डेल्टा वैरिएंट से इसे अलग बनाते हैं। आइए इस बारे में आगे की स्लाइडों में विस्तार से जानते हैं।

डेल्टा से अलग हो सकते हैं ओमिक्रॉन के लक्षण
गंभीर थकान और कमजोरी की समस्या अब भी संक्रमितों में देखने को मिल रही है, जो पहले के संक्रमण के दौरान भी देखी जा रही थी। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के रोगियों का इलाज कर रही डॉक्टर एंजेलिक कोएत्ज़ी ने एक रिपोर्ट में बताया है कि ओमिक्रॉन के कुछ खास लक्षण इसे डेल्टा से अलग बनाते हैं। वहीं इस बार ओमिक्रॉन के संक्रमण में रोगियों में रात के समय कुछ विशिष्ट लक्षण देखने को मिल रहे हैं, जिसके बारे में जानना आवश्यक हो जाता है।

Omicron Variant: रात में पॉजिटिव लोगों को करना पड रहा इन परेशानियों का सामना, डेल्टा से पुरी तरह अलग है इसके लक्षण

संक्रमितों को रात में आ रहा है बहुत अधिक पसीना
कुछ रोगियों को रात में इतना अधिक पसीना आता है कि उनके कपड़े और बिस्तर तक भीग जा रहे हैं। रात में पसीना आने के साथ शरीर में तेज दर्द की समस्या भी रोगियों में देखने को मिल रही है। डॉक्टर एंजेलिक कोएत्ज़ी बताती हैं, ओमिक्रॉन संक्रमित ज्यादातर रोगियों को रात में बहुत अधिक पसीना आने की समस्या देखने को मिल रही है। मौजूदा समय में कोरोना रोगियों का इलाज कर रहे डॉक्टरों को इन लक्षणों पर विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है।

गले में खरोंच और तेज दर्द
रोगी बता रहे हैं कि उन्हें ऐसा एहसास होता है कि जैसे उनका गला छिल गया हो। डॉक्टर एंजेलिक कोएत्ज़ी ने रिपोर्ट में जिक्र किया है कि अब तक कोरोना के डेल्टा सहित अन्य तमाम वैरिएंट्स में लोगों को गले में खराश की समस्या हो रही थी, हालांकि इस बार संक्रमितों को गले में खरोंच जैसा अनुभव हो रहा है, जो तेज दर्द का भी कारण बन सकता है। 

इन लक्षणों के बारे में भी जानिए
डेल्टा वैरिएंट के संक्रमण की तरह स्वाद और गंध जाने जैसी दिक्कत, ओमिक्रॉन संक्रमितों में फिलहाल देखने को नहीं मिल रही है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक ओमिक्रॉन संक्रमितों में भी कुछ लक्षण डेल्टा वैरिएंट वाले देखे जा रहे हैं, जिसमें कमजोरी, हल्का बुखार, सूखी खांसी की समस्या सामान्य है। ओमिक्रॉन की संक्रामता दर को देखते हुए सभी लोगों को इससे बचाव के पर्याप्त उपाय करते रहना चाहिए।

Post a Comment

From around the web