madhya Pradesh में कोरोना मरीजों की रिकवरी दर बढ़ी

 
madhya Pradesh में कोरोना मरीजों की रिकवरी दर बढ़ी

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार को रोकने के प्रयास जारी हैं, राज्य में मरीजों की रिकवरी दर तेजी से बढ़ रही है। राज्य में रिकवरी दर 84.19 हो गई है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव केसेस की तुलना में रिकवरी रेट में लगातार वृद्धि हो रही है। रिकवरी दर 23 अप्रैल को 80.41 प्रतिशत थी, जो बढ़कर दो मई को 84.19 प्रतिशत हो गई है। रिकवरी दर 29 अप्रैल को 82.28 प्रतिशत, 30 अप्रैल को 82.88 प्रतिशत और एक मई को बढ़कर 83.63 प्रतिशत पहुंची। एक्टिव केसेस की संख्या के हिसाब से मध्यप्रदेश देश में सातवें नंबर पर था, जो अब 14 वें नंबर पर बेहतर स्थिति में आ गया है। प्रदेश के 26 जिलों में नए पॉजिटिव केसेस की तुलना रिकवरी का प्रतिशत अधिक रहा है।

प्रदेश में एक दिन में स्वस्थ हुए मरीजों में से 83.4 प्रतिशत होम आइसोलेशन के मरीज थे और 3.9 प्रतिशत मरीज कोविड केयर सेन्टर में उपचाररत थे। इस प्रकार 87.3 प्रतिशत मरीज अस्पताल जाए बिना होम आइसोलेशन और कोविड केयर सेंटर में ही स्वस्थ्य हो गए। शेष 12.7 प्रतिशत अस्पतालों से ठीक होकर घर वापस गए हैं। प्रदेश में कुल 68 हजार 156 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। इनमें से 97 प्रतिशत मरीजों से कम से कम एक बार सम्पर्क किया गया है। होम आइसोलेशन के 99 प्रतिशत मरीजों को मेडिकल किट और हेल्थ ब्रोशर की होम डिलेवरी की जा रही है।

प्रदेश के 52 जिलों मे 251 कोविड केयर सेंटर्स प्रारंभ किये जा चुके हैं, जिनमें कम लक्षणों वाले रोगियों को रखा जा रहा है। इनमें वर्तमान में कुल 16 हजार 636 बेड्स की व्यवस्था की गई है। इनमें से 1180 ऑक्सीजन बेड्स स्थापित किये गए हैं। सेंटर्स में बेड्स की संख्या में निरंतर इजाफा किया जा रहा है।

ग्रामीण क्षेत्रों में अब तक कुल 22 हजार 10 संस्थागत क्वारेंटीन सेंटर्स बनाये जा चुके हैं। इनमें दो लाख 63 हजार 715 बेडस स्थापित किये गए हैं। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित सभी सेंटर्स में रहने वाले मरीजों को मेडिकल किट और हेल्थ ब्रोशर प्रदाय किये जा रहे हैं।

प्रदेश में कुल 845 कोविड अस्पताल संचालित हैं। एक अप्रैल तक इनमें कुल 20 हजार 159 बेड्स उपलब्ध थे, जिन्हें बढ़ाकर 60 हजार से अधिक किया गया है। प्रतिदिन एक हजार से अधिक बेड्स बढ़ाए जा रहे हैं। एक माह में 40 हजार से अधिक बेड्स बढ़ाए गए हैं। प्रदेश के सरकारी अस्पतालों के बेड्स को ऑक्सीजन बेड्स में परिवर्तित करने के लिए पाइप लाइन डालने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। जिला अस्पतालों के दो हजार 302 बिस्तरों में से अब तक 1476 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप लाइन डाली जा चुकी है। प्रदेश के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के 4643 बिस्तरों में से अब तक 557 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप लाइन डालने का कार्य पूर्ण हो चुका है।

न्यूज सत्रोत आईएएनएस

Post a Comment

From around the web