शिल्पा शेट्टी बता रही हैं स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज की Importance,जानें 'उत्तान पृष्ठासन' करने का तरीका

 

लाइफस्टाइल डेस्क, जयपुर।। शिल्पा शेट्टी कुंद्रा न केवल अपने अभिनय और डांसिंग के लिए बल्कि अपनी फिटनेस को लेकर भी जानी जाती हैं। वह फिल्म इंडस्ट्री की एक ऐसी अदाकारा हैं, जिनके फिटनेस रूटीन को जानने के लिए हर हफ्ते लाखों लोग इंजतार करते हैं। वह सभी के लिए एक प्रेरणा हैं। शिल्पा अक्सर अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर फिटनेस टिप्स और वर्कआउट सेशन शेयर करती रहती हैं।  इस बार भी उन्होंने अपने फैंस के लिए इस सिरीज में एक नया योग आसन और उसके लाभों के बारे में बताया है।  इसी तरह इस बार भी उन्होंने अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह उत्तान पृष्ठासन  या लिजर्ड पोज करते हुए दिख रही हैं।

इस आसन को कैसे करना चाहिए और इससे हमारे शरीर को क्या-क्या फायदा पहुंचता है ये भी शिल्पा ने बताया है। शिल्पा ने अपने योग वीडियो को 'मंडे मोटिवेशन' कहा, और सही भी। उन्होंने यह भी बताया कि सुबह-सुबह शरीर को स्ट्रेच करना हमारे लिए कितना फायदेमंद होता है, क्योंकि यह ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर तनाव या दर्द से राहत देता है। यह हमारे शरीर को पूरे दिन के लिए तैयार करता है।

शिल्पा ने बताया स्ट्रेचिंग की इंपॉर्टेंस

हमारे शरीर को स्ट्रेच करने के महत्व के बारे में बात करते हुए, शिल्पा ने अपने वीडियो के कैप्शन में लिखा, 'दिन की शुरुआत में शरीर को एक अच्छा स्ट्रेच देने से बहुत फायदा होता है। यह आपकी मांसपेशियों और दिमाग में ब्लड सर्कुलेशन के प्रवाह को तेज करता है और तनाव और दर्द को दूर कर सकता है। इसलिए मैंने अपने दिन की शुरुआत खुले आसमान के नीचे, चहकते पक्षियों के साथ और ऑक्सीजन के साथ उत्तान पृष्ठासन   या लिजर्ड योग करने का फैसला किया।' 

शिल्पा ने अपने योग वीडियो को 'मंडे मोटिवेशन' में कहा, और  बताया कि सुबह के समय शरीर को स्ट्रेच करना हमारे लिए कितना फायदेमंद होता है, क्योंकि यह ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर तनाव या दर्द से राहत देता है। 

शिल्पा ने बताया स्ट्रेचिंग की इंपॉर्टेंस

शिल्पा ने अपने वीडियो के कैप्शन में लिखा, 'दिन की शुरुआत में अपने शरीर को एक अच्छा स्ट्रेच देने से बहुत फायदा होता है। इसलिए मैंने अपने दिन की शुरुआत खुले आसमान के नीचे, चहकते पक्षियों के साथ और ऑक्सीजन के साथ उत्तान पृष्ठासन   या लिजर्ड योग करने का फैसला किया।' यह आपकी मांसपेशियों और दिमाग में ब्लड सर्कुलेशन के प्रवाह को तेज करता है और तनाव और दर्द को दूर कर सकता है। 

कैसे करें उत्तान पृष्ठासन  

s

इसके लिए सबसे पहले एकदम सीधा खड़े हो जाएं।
अपने शरीर को पहले हस्त उत्तानासन की मुद्रा में लाएं और फिर डाउनवर्ड डॉग या अधो मुख श्वानासन की मुद्रा में आ जाएं।
अब अपने एक पैर को सीधे हाथ की तरफ से बाहर निकालते हुए लंजेस की पोजीशन में आ जाएं।
अपने बाएं घुटने को जमीन पर टिकाएं और अपनी बाहों और पीठ को सीधा रखते हुए अपने कूल्हों को दबाएं।
अपनी पीठ को सीधा रखते हुए फोरआर्म्स पर नीचे आएं। हथेलियों को फ्लैट रखें और अपने सिर को रिलैक्स रखें।
इस मुद्रा में कुछ देर रहने के बाद वापिस अधो मुख श्वानासन मुद्रा में आ जाएं।

उत्तान पृष्ठासन के फायदे

इससे शरीर में लचीलापन होता है और हैमस्ट्रिंग, हिप फ्लेक्सर्स और ग्रोइन को खोलता है। इसके अतिरिक्त, यह आंतरिक जांघों और क्वाड्रिसेप्स को मजबूत करता है, इस प्रकार हमारे कूल्हों, ऊपरी शरीर और दिमाग को खोलता है। एक सरल आसन आपके शरीर, मन और आत्मा के लिए बहुत प्रभावी है। आपके दिमाग को शांत करता है और सबसे अच्छा स्ट्रेस बस्टर है।

यह आपके शरीर के लिए एक अच्छी स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज है। मगर शिल्पा के मुताबिक यह एक्सरसाइज उन लोगों को नहीं करनी चाहिए, जो हिप या घुटने की चोट या फिर डिसलोकेटेड शोल्डर से ग्रस्त हैं।आपकी गर्दन के लिए अच्छा है और साथ ही यह आपके आंतरिक अंगों की जेंटली मसाज करता है।
 

Post a Comment

From around the web