हर दूसरे दिन पेट हो जाता है खराब तो क्या करें?

 
dsvd

कुछ लोगों को शिकायत रहती है कि उनका पेट हर दूसरे दिन खराब हो जाता है। दस्त, डायरिया, कब्ज, एसिडिटी, पेट दर्द जैसी बार-बार होने वाली समस्याओं के कारण खाना-पीना भी मुश्किल हो जाता है। इसका कारण काफी हद तक गलत खानपान व बिगड़ी दिनचर्या भी है। इसके कारण डिहाइड्रेशन, अल्सर, आंतों में सूजन जैसी कई गंभीर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में स्वस्थ रहने के लिए पेट का सही होना बहुत जरूरी है।

सबसे पहले जानिए बार-बार पेट खराब होने की वजह, बार-बार पेट खराब होने के बहुत से कारण हो सकते हैं लेकिन इसके मुख्य लक्षण हैं जैसे...

  • अनहाइजीनिक खाना या पानी
  • बैक्टीरिया से दूषित हुए भोजन या पानी का सेवन करने से (Contaminated food and water)
  • वायरल इंफेक्शन जैसे- हेपेटाइटिस, नोरोवायरस या रोटावायरस
  • इरिटेबल बाउल सिंड्रोम
  • किसी फूड आइटम से एलर्जी
  • फूड पॉयजनिंग
  • लिवर में खराबी

अक्सर पेट खराब रहता है तो दवा नहीं अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

  • नारियल पानी: नारियल पानी से शरीर में फ्लूइड्स बैलेंस सही रहता है और इससे ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ता है। साथ ही इसमें कई एंजाइम्स भी होते हैं, जो पेट को सही रखते हैं।
  • जीरे का पानी: सुबह खाली पेट 1 कप जीरे का पानी पीने से भी आराम मिलता है। इसकी एंटीसेप्टिक प्रॉपर्टीज आंतों को नुकसान पहुंचा रहे बैक्टीरिया का खात्मा करते हैं। इसके अलावा अजवाइन भी पेट की समस्याओं में काफी असरदार है।
  • दही खाएं: रोजाना 2 बार 1 कटोरी दही में काली मिर्च व चुटकीभर नमक मिलाकर खाने से पाचन तंत्र सही रहेगा और पेट की दिक्कतें नहीं होंगे। दही में प्रोबायोटिक्स यानी गुड बैक्टीरिया होते हैं, जो इंफेक्शन से लड़ने में मदद करते हैं।
  • अदरक: अपसेट पेट के लिए अदरक भी काफी कारगार है। इसके लिए 1 गिलास दूध में एक चम्मच अदरक पाउडर मिलाकर सोने से पहले पीएं।
  • केला और आलू खाएं: इनमें पोटेशियम के अलावा पेक्टिन नामक घुलनशील फाइबर होता है ,जो आंत को डिटॉक्स करता है। साथ ही इससे पेट की दिक्कतें भी नहीं होती। उबले आलू में चुटकीभर नमक व काली मिर्च डालकर खाएं।

Post a Comment

From around the web