अगर आप घर के भीतर पौधे लगाना चाहते है तो यह उपाय अपनाये 

 
प्लांट

कल्पना करें, घर में इन्डोर प्लांट्स के गमले रखे हों और आप उनके बीच चाय की चुस्कियों का मजा ले रहे हैं। बड़े शहरों के सिमटते घरों ने भले ही गार्डनिंग जैसे शौक भुला दिए हैं, मगर इन्डोर गार्डनिंग से आप अपने सपनों को रंग दे सकते हैं।मटते घरों के साथ कई बार उम्मीदें भी मन के किसी कोने में सिमटकर दम तोड़ देती हैं। अपने घर को सजाने के लिए गार्डनिंग का शौक भी इन्हीं उम्मीदों में से एक है। लेकिन, आपको निराश होने की जरूरत नहीं, क्योंकि इन्डोर गार्डनिंग आपके इस सपने को पूरा कर सकती है।

प्लांट

 आपके भीतर के कलाकार मन और रचनात्मकता से आप अपनी कल्पनाएं साकार कर सकते हैं।इन्डोर प्लांटेशन काफी हद तक आपके हरे-भरे सपनों को पूरा कर सकता है। शहरी लोगों को आउटडोर जगह की कमी हमेशा खलती है, क्योंकि लॉन का आनंद और खूबसूरती फ्लैटों में नहीं मिल पाती। जबकि घर में हरियाली लुभाती है। इन्डोर गार्डनिंग से इंटीरियर डेकोरेशन में भी मदद मिल सकती है। इन्डोर गार्डनिंग से आप अपने गार्डनिंग के शौक को पूरा करने के साथ-साथ घर के इंटीरियर को भी नया लुक दे सकते हैंइन्डोर गार्डन से सिर्फ घर की खूबसूरती ही नहीं बढ़ती, बल्कि कमरे को भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन भी मिलती है। 

गमले के पौधों को बड़ी खिड़की के सामने या बालकनी में रखें, ताकि उन्हें पर्याप्त सूरज की रोशनी मिलती रहे। साथ ही आप गमले के पौधों को खुले में भी रख सकते हैं।इन्डोर गार्डनिंग के लिए बाजार में तरह-तरह की चिक और रंग-बिरंगे कंटेनर, पॉट एवं प्लांटर मिलते हैं। इनके इस्तेमाल से आप अपने घर को एवरग्रीन लुक दे सकते हैं। दिल्ली की इंटीरियर डेकोरेशन एक्सपर्ट सोनल बाथला के मुताबिक प्लांटर्स की लोकेशन भी काफी मायने रखती है। पौधे का चयन करते वक्त उसे रखने के लिए लोकेशन का भी ख्याल रखना बेहद जरूरी है।

Post a Comment

From around the web