Ajab Gajab: 'ब्लैक होल ही है दूसरी दुनिया में जाने का द्वार धरती भी है इसका हिस्सा', वैज्ञानिक ने किया चौंकाने वाला दावा

 
Ajab Gajab: 'ब्लैक होल ही है दूसरी दुनिया में जाने का द्वार धरती भी है इसका हिस्सा', वैज्ञानिक ने किया चौंकाने वाला दावा

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। अगर आप अंग्रेजी फिल्मों के प्रशंसक हैं, तो आपने 'इंटरस्टेलर' या 'डॉक्टर स्ट्रेंज: मल्टीवर्स ऑफ मैडनेस' जैसी फिल्में देखी होंगी। ये फिल्में मल्टीवर्स के भीतर कई ब्रह्मांड होने का दावा करती हैं और उनके नायक ब्लैक होल के माध्यम से एक ब्रह्मांड से दूसरे ब्रह्मांड में प्रवेश करते हैं। हालांकि यह एक फिल्म थी, लेकिन अब एक वैज्ञानिक ने एक चौंकाने वाला दावा किया है जो कई ब्रह्मांडों और ब्लैक होल से जुड़ा हुआ है। वैज्ञानिकों का कहना है कि ब्लैक होल एक ब्रह्मांड से दूसरे ब्रह्मांड का प्रवेश द्वार हैं।

मल्टीवर्स का सिद्धांत क्या है?
वैज्ञानिकों के दावे के बारे में बताने से पहले आइए हम आपको बताते हैं कि मल्टीवर्स और ब्लैक होल क्या है। हम पृथ्वी पर रहते हैं, हमारे सौर मंडल में पृथ्वी और 7 अन्य ग्रह हैं। हमारे सौर मंडल के अलावा, हजारों और यहां तक ​​कि लाखों सौर प्रणालियों के दावे हैं। ये सभी सौर मंडल आकाशगंगाओं में पाए जाते हैं। हमारी आकाशगंगा को 'आकाशगंगा' या आकाशगंगा कहा जाता है। वैज्ञानिकों का दावा है कि ब्रह्मांड के भीतर ऐसी ही सैकड़ों आकाशगंगाएं पाई जाती हैं। मल्टीवर्स के सिद्धांत के अनुसार, इस दुनिया में अनगिनत ब्रह्मांड हैं।

ब्लैक होल क्या है?
दूसरी ओर, ब्लैक होल अंतरिक्ष में एक ऐसी जगह है जहां समय और स्थान का कोई अर्थ नहीं है। इसका गुरुत्वाकर्षण इतना अधिक है कि इसके चारों ओर की हर चीज इसमें समा जाती है और कभी बाहर नहीं आ सकती। वैज्ञानिकों ने यह भी दावा किया है कि एक सुपरमैसिव ब्लैक होल सौर मंडल को अपने में समा सकता है और यह मामला प्रवेश करते ही एक छोटे से बिंदु में गिर जाएगा। यह ब्लैक होल और ब्रह्मांड की बहुत ही सरल व्याख्या है, जिससे आप इसकी उत्पत्ति को आसानी से समझ सकते हैं। लेकिन ब्लैक होल को पूरी तरह से समझना बहुत मुश्किल है।

Ajab Gajab: 'ब्लैक होल ही है दूसरी दुनिया में जाने का द्वार धरती भी है इसका हिस्सा', वैज्ञानिक ने किया चौंकाने वाला दावा

वैज्ञानिक क्या दावा करते हैं?
आइए अब बताते हैं कि वैज्ञानिकों ने हाल ही में क्या मतलब निकाला है। डेली स्टार न्यूज वेबसाइट से बात करते हुए पोलिश वैज्ञानिक निकोडेम पोपावस्की ने कहा है कि हर ब्लैक होल में एक नया ब्रह्मांड रहता है। यानी एक ब्लैक होल दूसरे ब्रह्मांड का रास्ता है। उन्होंने यह भी कहा कि हमारा ब्रह्मांड भी एक अन्य ब्रह्मांड के केंद्र में एक ब्लैक होल में निवास करेगा। वैज्ञानिक ने कहा कि ब्लैक होल इतने छोटे हो सकते हैं कि उन्हें माइक्रोस्कोप से देखा जा सकता है या इतना बड़ा कि उनमें सैकड़ों सूर्य हो सकते हैं, लेकिन यह संभव है कि उन सभी में एक और ब्रह्मांड हो। आपको बता दें कि पृथ्वी का सबसे नजदीकी ब्लैक होल Gaia BH1 है और यह पृथ्वी से 1500 प्रकाश वर्ष दूर है।

Post a Comment

From around the web