बृहस्पति के चंद्रमा पर हैं एलियंस का बसेरा? वैज्ञानिकों को मिला ये चौंकाने वाला बड़ा सबूत

 
बृहस्पति के चंद्रमा पर हैं एलियंस का बसेरा? वैज्ञानिकों को मिला ये चौंकाने वाला बड़ा सबूत

लाइफस्टाइल डेस्क।।  एलियंस के अस्तित्व को लेकर कई दावे किए गए हैं। एलियंस के बारे में वैज्ञानिकों की राय एक जैसी नहीं है। एलियंस और यूएफओ को लेकर तरह-तरह के दावे किए जाते हैं। एलियंस और यूएफओ को हर दिन पृथ्वी पर देखे जाने का दावा किया जाता है। कई बार ऐसे दावे किए जाते हैं जिनके बारे में जानकर हैरानी होती है। क्या पृथ्वी के अलावा ब्रह्मांड में जीवन है? क्या अंतरिक्ष में एलियंस होते हैं? इसका पुख्ता सबूत किसी के पास नहीं है। वैज्ञानिक वर्षों से एलियंस के अस्तित्व पर शोध कर रहे हैं, लेकिन उन्हें अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है। हालांकि एलियंस को लेकर आए दिन नए-नए दावे किए जा रहे हैं।

बृहस्पति के चंद्रमा पर हैं एलियंस का बसेरा? वैज्ञानिकों को मिला ये चौंकाने वाला बड़ा सबूत

पिछले दशकों में विज्ञान ने अभूतपूर्व सफलता हासिल की है। अब वैज्ञानिक अंतरिक्ष में ऐसी जगह की तलाश कर रहे हैं जहां जीवन संभव हो। वैज्ञानिकों ने पता लगाया है कि बृहस्पति का चंद्रमा यूरोपा पहुंच गया है। जहां जीवन संभव है। वैज्ञानिकों का दावा है कि बृहस्पति के चंद्रमा यूरोपा पर एलियंस हो सकते हैं।`बृहस्पति का चंद्रमा यूरोप की अधिकांश सतह बर्फ से ढकी है। वैज्ञानिकों को हाल ही में पता चला है कि यूरोपा पर पानी हो सकता है। यूरोप की भौगोलिक स्थिति ग्रीनलैंड के समान है, इसलिए यहां जीवन की संभावना व्यक्त की जा रही है। ग्रीनलैंड में जीवन पानी में, बर्फ में पाया जाता है। झींगा, जेलीफ़िश और घोंघे जैसे जीव यहाँ पाए जाते हैं।

बृहस्पति के चंद्रमा पर हैं एलियंस का बसेरा? वैज्ञानिकों को मिला ये चौंकाने वाला बड़ा सबूत

वैज्ञानिकों ने इस आधार पर संभावना जताई है कि यूरोपा पर पानी बर्फ की ठोस सतह के नीचे स्थित है जहां जीवन पाया जा सकता है। वैज्ञानिकों ने यूरोपा पर सैकड़ों किलोमीटर की धारियों की खोज की है। ये पर्वतमालाएँ बर्फ से बनी हैं जिन्हें दोहरी चोटियाँ कहा जाता है। इन पर्वत श्रृंखलाओं और उत्तर-पश्चिमी ग्रीनलैंड के बीच समानताएं हैं।
बृहस्पति के चंद्रमा पर छिपे हैं एलियंस?

वैज्ञानिक इन दोहरी धारियों पर 20 वर्षों से अधिक समय से शोध कर रहे हैं। नासा की जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी के डॉ. यह ग्रेगर स्टाइनबर्ग द्वारा कहा गया था। यूरोप में पहली बार वैज्ञानिकों ने कुछ ऐसा खोजा है जो पृथ्वी पर होता है। डॉ। ग्रेगोर स्टाइनबर्ग कहते हैं, बर्फीले यूरोप में भौतिकी और गतिकी की प्रक्रियाएं कैसे हावी हैं? इसे जानने और समझने की कोशिश की जा रही है। वैज्ञानिकों ने पता लगाया है कि यूरोपा पर पाए जाने वाले डबल रिज की ऊंचाई करीब एक हजार फीट है, जबकि लंबाई आधा मील से भी ज्यादा है।

Post a Comment

From around the web