Commando Force: ये हैं दुनिया के 5 सबसे खतरनाक कमांडो फोर्स, जिनके आगे नहीं टिकता है कोई भी दुश्मन

 
Commando Force: ये हैं दुनिया के 5 सबसे खतरनाक कमांडो फोर्स, जिनके आगे नहीं टिकता है कोई भी दुश्मन

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद, संयुक्त राज्य अमेरिका सहित लगभग सभी देशों ने सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सेना को मजबूत करना शुरू कर दिया। शायद यही कारण है कि आज लगभग सभी देशों की सेनाएँ बहुत मजबूत हैं और कुछ छोटे देशों को छोड़ दिए जाने पर बाहरी आक्रमण को रोकने में सक्षम हैं। इसी क्रम में आज हम भारत को दुनिया की टॉप कमांडो फोर्स करेंगे। आइए जानते हैं यहां..

1. मार्कोस
भारत के मार्कोस की गिनती दुनिया के बेहतरीन कमांडो फोर्सेज में होती है। ये भारतीय नौसेना के समुद्री कमांडो हैं। मार्कोस कमांडो दुनिया भर में अपनी बहादुरी और सफल ऑपरेशन के लिए मशहूर हैं। वे जमीन, हवा और पानी पर दुश्मनों को मारने में सक्षम हैं। मार्कोस कमांडो को कड़ी ट्रेनिंग के बाद तैयार किया जाता है। वे राइफल, स्नाइपर्स से सभी आधुनिक हथियारों को चलाना जानते हैं। हालांकि, निहत्थे मार्कोस ज्यादा खतरनाक साबित होते हैं। क्योंकि ये बिना शस्त्र के भी दुश्मनों को मार सकते हैं। इन कमांडो को मार्शल आर्ट का प्रशिक्षण दिया जाता है।

Commando Force: ये हैं दुनिया के 5 सबसे खतरनाक कमांडो फोर्स, जिनके आगे नहीं टिकता है कोई भी दुश्मन

26/11 में अहम भूमिका निभाई थी
मार्कोस कमांडो हर तरह के हथियारों, हेलिकॉप्टरों, जहाजों को चलाना जानते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 10,000 सैनिकों में से किसी एक को मार्कोस कमांडो ट्रेनिंग के लिए चुना जाता है. मार्कोस कमांडो। यहां तक ​​कि अमेरिका के मशहूर नेवी सील भी मानसिक और शारीरिक क्षमता में पिछड़ जाते हैं। 26/11 के मुंबई हमलों में आतंकवादियों से निपटने में उनकी विशेष भूमिका थी।

2. डेल्टा फोर्स
अमेरिका डेल्टा फोर्स को दुनिया की मशहूर कमांडो फोर्स में से एक माना जाता है। ये कमांडो फोर्स दुनिया में सबसे खतरनाक, तेज एक्शन के लिए जानी जाती है। उन्हें अमेरिकी खुफिया बलों में शीर्ष पर माना जाता है। बल को सबसे आधुनिक तकनीक से प्रशिक्षित किया जाता है डेल्टा फोर्स को विशेष मिशनों के लिए डिज़ाइन किया गया है। डेल्टा फोर्स कमांडो ने कई बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया है। 2001 के दौरान, अफगानिस्तान में तालिबान को खत्म करने के लिए डेल्टा फोर्स का इस्तेमाल किया गया था। पिछले साल इस्लामिक स्टेट के नेता बगदादी को डेल्टा फोर्स ने सीरिया में एक गुप्त मिशन में मार गिराया था। बताया जाता है कि इस मिशन में 70 डीईएलटी कमांडो शामिल थे।

3. नौसेना सील
डेल्टा की तरह, अमेरिका की दूसरी सबसे घातक और सबसे खतरनाक कमांडो फोर्स नेवी सील हैं। इस फोर्स के कमांडो जमीन से ज्यादा पानी में खतरनाक होते हैं। इन्हें पानी के भीतर यानी नौसैनिक युद्ध और संचालन के लिए डिजाइन किया गया है। इनकी ट्रेनिंग भी दुनिया में सबसे खतरनाक मानी जाती है। ऐसा कहा जाता है कि नेवी सील में शामिल होने से पहले 100 में से 95 सैनिकों को खारिज कर दिया जाता है। इन्हीं कमांडो ने अफगानिस्तान में ओसामा बिन लादेन को मार गिराया था।

Commando Force: ये हैं दुनिया के 5 सबसे खतरनाक कमांडो फोर्स, जिनके आगे नहीं टिकता है कोई भी दुश्मन

4. ब्रिटेन की विशेष हवाई सेवा
ब्रिटेन की यह कमांडो फोर्स दुनिया की तमाम स्पेशल फोर्सेज की प्रेरणा है। क्योंकि दुनिया में हर जगह ब्रिटिश स्पेशल एयर सर्विस कमांडो की तर्ज पर ट्रेनिंग की परंपरा है। ऐसा माना जाता है कि युद्ध स्थितियों से निपटने में स्पेशल एयर सर्विस का कोई मुकाबला नहीं है। इसके कमांडो जमीनी लड़ाई में माहिर होते हैं। इसे दुनिया की सबसे पुरानी और बेहतरीन ताकत माना जाता है। 1941 में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटेन ने विशेष वायु सेवा का निर्माण किया। उनकी बहादुरी के लिए दुनिया भर में उनका सम्मान किया जाता है।

5. इसराइल के सीरत मटकल
इजरायल ने अपनी सुरक्षा के लिए दुनिया की सबसे खतरनाक कमांडो फोर्स बनाई है। इस कमांडो फोर्स को इजराइल की राष्ट्रीय भाषा हिब्रू में सैराट मटकल कहा जाता है। इसकी स्थापना 1957 में हुई थी। इस्राइल की इस सेना ने दुनिया के सबसे कठिन ऑपरेशन को अंजाम दिया है। 1976 में, इसी बल ने युगांडा के एंटेबे हवाई अड्डे पर 106 यात्रियों को बचाने के लिए एक मिशन को सफलतापूर्वक पूरा किया। इस कमांडो की ट्रेनिंग 1 साल 8 महीने की होती है।

Post a Comment

From around the web