गर्लफ्रेंड के साथ पहले ली सेल्फी, फिर तेजाब से नहलाकर दे दी उसे दर्दनाक मौत

 
गर्लफ्रेंड के साथ पहले ली सेल्फी, फिर तेजाब से नहलाकर दे दी उसे दर्दनाक मौत

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। सीरीयल किलर, या सीरियल kisser के बारे में आपने  तो आवश्य सुना होगा, लेकिन एसिड बाथ किलर से आज हम आपको मिलवाने जा रहे हैं, जिसने तेजाब से नहलाकर अपनी गर्लफ्रेंड को उसे दर्दनाक मौत दी। कुछ दिनों बाद उसने फेसबुक पर गर्लफ्रेंड की हत्या का आरोप लगाए जाने के अपनी गर्लफ्रेंड को गले लगाते हुए फोटो भी शेयर की। ताकि उसने अपनी प्रेमिका की हत्या नहीं की है लोगों को यह संदेश जाए । यानी पूरी प्लानिंग के साथ ये मर्डर उसने किया था, लेकिन वह कानून के शिकंजे से बच नहीं सका।

19 साल की अपनी प्रेमिका अमीना हयात को तेजाब से भरे टब में नहलाकर पेशे से बॉडी बिल्डर मेराज जफर पर  उसकी हत्या करने का आरोप है। पुलिस को बाथ टब के पास से मिले अवशेषों के बाद इस बात की पुष्टि हुई। हयात की पोर्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया कि शनिवार दोपहर 12 से शाम 5 बजे के बीच हयात की मौत हुई। खबर है कि हयात अब उसकी प्रेमिका नहीं पत्नी बन चुकी थी और 12ृृृृृृृृृृृृृृृृृृृृृृृृदोनों ने कुछ ही हफ्तों पहले शादी की थी और शादी के बाद ही जफर ने हयात को तेजाब से नहलाकर दर्दनाक मौत दे दी।

गर्लफ्रेंड के साथ पहले ली सेल्फी, फिर तेजाब से नहलाकर दे दी उसे दर्दनाक मौत

जब उसके परिजन पहुंचे तो उन्हें घर में तोड़फोड़ के सबूत मिले दरअसल हयात के सिडनी वाले घर में , इसके अलावा उन्हें बाथरूम में तेजाब में घुले हुए एकदम पिघले हुए कुछ मांस के टुकड़े मिले, जिसे देखने के बाद वो चिंतत हो उठे और उन्होंने तुरंत पुलिस को इसकी खबर दी। पुलिस को जब तक इस बात की सूचना मिली तब तक हयात को तेजाब से भरे टब में पड़े हुए पूरा एक दिन बीत चुका था, और तेजाब डलने की वजह से पूरा शरीर पिघल चुका था, जिसकी वजह से पुलिस को सबूत के तौर पर शरीर के पिघले हुए अवशेष मिले। पोस्टमॉर्टम में इस बात की पुष्टि होने के बात कि यह अवशेष हयात के हैं, पुलिस ने तुरंत जफर को दबोचने के लिए अभियान चलाया, लेकिन कुछ ही घंटों बाद जफर ने खुद पुलिस में अपनी गिरफ्तारी दे दी।

हयात के परिवार वाले दोनों की शादी से बिल्कुल भी खुश नहीं थे। हयात को डॉक्टर बनते देखना चाहते थे माता-पिता बताया जा रहा है कि पोर्टमॉर्टम में हयात की मौत की पुष्टि होने के बाद हयात के माता-पिता को गहरा सदमा लगा है। हयात के पिता अबू ने मीडिया से कहा कि हर किसी को उम्मीद थी कि वह एक दिन डॉक्टर बनेगी। वह लोगों की मदद करना चाहती थी। वह बार-बार यही दोहरा रहे थे कि मुझे मेरी बेटी चाहिए. मुझे मेरी बेटी चाहिए।  हालांकि जफर ने हयात को क्यों मारा इस बात की भी पुष्टि नहीं हो पाई है।वहीं कोर्ट ने जफर को इस वीभत्स घटना के बाद जमानत देने से इंकार कर दिया।

Post a Comment

From around the web