'गुरुजी कृपया पास कर दें, ससुराल में लाज बच जाएगी’, कॉपियों में तरह-तरह की छात्रों ने लिखीं बातें

 
यूपी बोर्ड: 'गुरुजी कृपया पास कर दें, ससुराल में लाज बच जाएगी’, कॉपियों में छात्रों ने लिखीं तरह-तरह की बातें

लाइफस्टाइल डेस्क।।  यूपी बोर्ड के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की कॉपियों में परीक्षार्थियों की ओर से विभिन्न मामले लिखे गए हैं। गुरुवार को आगरा में हाई स्कूल के अंग्रेजी विषय की कॉपी में परीक्षार्थी की ओर से लिखा गया कि 'मेहनत से अपने रिश्ते को सुलझा लिया और शादी कर ली। ससुराल वाले उसे आगे पढ़ाना चाहते हैं। काम का बोझ ज्यादा है, पढ़ाई ठीक से नहीं हो पाई, सर प्लीज पास हो जाइए, ससुराल वालों की लाज बच जाएगी।

हाई स्कूल विज्ञान विषय की कॉपी में एक परीक्षार्थी की ओर से लिखा गया था कि 'मैं बीमार था, मुझे डॉक्टर को दिखाया गया, फिर उसने मुझे ऐसी दवा दी, जिससे मुझे पोलियो हो गया। माता-पिता असहाय हैं, कृपया मुझे पास करें ताकि मैं माता-पिता का समर्थन कर सकूं। मूल्यांकन के दौरान परीक्षार्थी इसे पढ़कर एक-दूसरे से साझा कर रहे हैं। यह मामला परीक्षार्थियों के बीच चर्चा का विषय बना।
1.86 लाख प्रतियों का मूल्य था

जिले के पांच मूल्यांकन केंद्रों पर छह दिनों में हाई स्कूल और इंटरमीडिएट की 1.86 लाख कॉपियों का मूल्यांकन किया गया है। गुरुवार को 44057 कॉपियों का मूल्यांकन किया गया। मूल्यांकन केंद्रों को अब तक 6,62,581 प्रतियां उपलब्ध कराई जा चुकी हैं, जबकि आवंटित प्रतियों की संख्या 7,31,566 है।

प्रायोगिक परीक्षा में जाने वाले परीक्षार्थी होंगे प्रभावित

यूपी बोर्ड ने इंटरमीडिएट के दूसरे चरण की प्रायोगिक परीक्षा 27 अप्रैल से शुरू कर दी है। अब आगरा जिले के शिक्षकों को अन्य जिलों में परीक्षक के रूप में प्रायोगिक परीक्षा देनी है। परीक्षकों की कमी का असर मूल्यांकन पर पड़ेगा। गुरुवार को 2292 परीक्षार्थियों में से 1368 ने पांच मूल्यांकन केंद्रों पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। गुरुवार की तुलना में चार कम परीक्षार्थी थे। उप प्रधान परीक्षक 236 लगे, 175 कॉपियों का मूल्यांकन बुधवार से तीन कम।

Post a Comment

From around the web