सोशल मीडिया से अगर बना लेंगे हफ्ते भर दूरी तो अक्ल की बढ जाएगी क्षमता, ब्रिटिश स्टडी में किया गया दावा

 
सोशल मीडिया से अगर बना लेंगे हफ्ते भर दूरी तो अक्ल की बढ जाएगी क्षमता, ब्रिटिश स्टडी में किया गया दावा

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। आज की दुनिया में लोग मानसिक समस्याओं के साथ-साथ शारीरिक समस्याओं से भी पीड़ित हैं। दुनिया भर में लाखों लोग अवसाद, चिंता और मिजाज से पीड़ित हैं। पिछले कुछ वर्षों में, यह समस्या कमोबेश बढ़ी है, जैसे-जैसे हमारे जीवन में इंटरनेट का विकास हुआ है, मानसिक स्वास्थ्य एक बड़ी समस्या बन गया है।

ब्रिटेन में बाथ विश्वविद्यालय में हाल ही में एक अध्ययन किया गया था। अध्ययन के प्रमुख लेखक डॉ. जेफ लैम्बर्ट ने कहा कि जीवन में सोशल मीडिया का हस्तक्षेप काफी बढ़ गया है और यह हमारे अवसाद और चिंता का एक प्रमुख कारण है। ऐसे में एक हफ्ते की छुट्टी भी मानसिक स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद हो सकती है।

सोशल मीडिया से अगर बना लेंगे हफ्ते भर दूरी तो अक्ल की बढ जाएगी क्षमता, ब्रिटिश स्टडी में किया गया दावा

डिजिटल डिटॉक्स की जरूरत है
स्टडी के मुताबिक, लोग हर हफ्ते घंटों सोशल मीडिया पर बिताते हैं। उन्हें फोन पर स्क्रॉल करने में मजा आता है, लेकिन नकारात्मक पक्ष यह है कि वे निराश हो जाते हैं। अध्ययन में 18 से 72 वर्ष के बीच के कुल 154 लोगों को शामिल किया गया था। एक समूह को एक सप्ताह के लिए इंस्टाग्राम, फेसबुक, ट्विटर और टिकटॉक जैसे सोशल मीडिया से बाहर रखा गया, जबकि दूसरे समूह ने सप्ताह में 8 घंटे इसका इस्तेमाल किया। एक हफ्ते बाद जब उनसे प्रतिक्रिया ली गई तो सोशल मीडिया से दूर रहने वाले ज्यादा आशावादी और स्वस्थ नजर आए।

निराशा और चिंता कम हुई
डेली मेल के अनुसार, अध्ययन ने इन लोगों से आशावाद और छोटे सुखों के बारे में प्रश्न पूछे। सोशल मीडिया से दूर रहने वाले लोगों की संख्या सामान्य चिंता विकार पैमाने पर 46-55.93 पाई गई। वहीं उनका डिप्रेशन भी 7.46 से गिरकर 4.84 पर आ गया, जबकि एंग्जायटी 6.92 से 5.94 पर पहुंच गई। अधिकांश लोगों ने इस प्रयोग से सकारात्मक परिणाम की सूचना दी। अध्ययन में पाया गया कि सोशल मीडिया का अवसाद, चिंता और मानसिक स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। ऐसे में डॉक्टर की सलाह के अनुसार एक हफ्ते का ब्रेक लेना काफी फायदेमंद हो सकता है।

Post a Comment

From around the web