पति ने कर दी पत्नी के गुटखा खाने पर थप्पड़ों की बारिश फिर निकाला घर से बाहर, मामला सुलझाने गई पुलिस खुद ही फंस गई

 
पति ने कर दी पत्नी के गुटखा खाने पर थप्पड़ों की बारिश फिर निकाला घर से बाहर, मामला सुलझाने गई पुलिस खुद ही फंस गई

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।।  मकर संक्रांति पर कुल 20 मामलों की पूर्णिया पुलिस परिवार परामर्श केंद्र में सुनवाई की गई, 6 मामलों को  जिसमें से निष्पादित किया गया। पति पत्नी को समझा-बुझाकर दो मामले में उनका घर फिर से बसा दिया गया। पुलिस थाना अथवा न्यायालय की शरण चार मामलों में नहीं समझने कारण लेने का सुझाव दिया गया।

भागलपुर जिला खरीक बाजार नागर टोला से एक मामला आया, जिसमें अजब गजब मामला पिता द्वारा शादी के अवसर पर नकद फर्नीचर कपड़ा इत्यादि देने के बावजूद भी पति द्वारा मोटरसाइकिल की मांग की पूर्णिया जिला के धमदाहा के पति पर आरोप लगाया गया कि जा रही थी। डेढ़ वर्ष पहले मारपीट कर नहीं देने पर प्रताडि़त किया गया था और भगा दिया गया। पत्नी गुटखा खाती है पति ने कहा कि, मना करने पर भी खाना बंद नहीं करती है। एक दो थप्पड़ जिस कारण से मार दिया हूं। इसलिए वो नाराज होकर ऐसे आरोप लगा रही है।

पति ने कर दी पत्नी के गुटखा खाने पर थप्पड़ों की बारिश फिर निकाला घर से बाहर, मामला सुलझाने गई पुलिस खुद ही फंस गई

पूर्णिया में रह रही के हाट थाना के छठ पोखर की एक पति की शिकायत थी की पत्नी बात नहीं सुनती है। वहीं पत्नी बताती है कि उसके साथ पति काफी मारपीट करते हैं। केंद्र ने पत्नी को गुटका नहीं खाने की सलाह दी। कहने पर पति किराया का मकान लेकर रखने लगा लेकिन वहां भी आकर उसकी सास मारपीट करती है इसलिए मैं ससुराल नहीं जाऊंगी। वहीं, पति को मारपीट नहीं करने और मोटरसाइकिल नहीं मांगने की हिदायत दी। समझाने पर भी दोनों जब मिलने के लिए तैयार नहीं हुए तो उन्हें थाना अथवा न्यायालय की शरण लेने का सुझाव दिया गया। दोनों ने केंद्र को विश्वास दिलाया कि भविष्य में कभी कोई शिकायत का मौका नहीं देंगे और दोनों खुशी-खुशी केंद्र से विदा हो गए। 

Post a Comment

From around the web