छोटे से टापू पर मौजूद अकेले पेड़ की सुरक्षा में लगा पुरा देश, टूरिस्ट को जाने की है मनाही, जानिए क्या है इसके पिछे की सच्चाई

 
छोटे से टापू पर मौजूद अकेले पेड़ की सुरक्षा में लगा पुरा देश, टूरिस्ट को जाने की है मनाही, जानिए क्या है इसके पिछे की सच्चाई

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। दुनिया के कई देश अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए मशहूर हैं। वहां के अधिकांश लोगों ने भी खुद को इस तरह से ढाल लिया है कि वे प्रकृति के साथ सामंजस्य बिठा चुके हैं, लेकिन इन देशों के कुछ लोग या दूसरे देशों के पर्यटक प्रकृति और पर्यावरण को खराब करने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। ऐसा ही कुछ इन दिनों थाईलैंड में हो रहा है जहां प्रशासन ने एक पेड़ को बचाने की मुहिम छेड़ रखी है।

साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के मुताबिक थाईलैंड में कोह खाई हुआ रोह नाम का एक छोटा सा टापू है। ट्रैट प्रांत में स्थित यह द्वीप इतना छोटा है कि इस पर एक ही पेड़ है, एक पत्थर जिससे इसकी जड़ें निकली हैं। कुछ मीटर बड़े इस द्वीप पर लोग एक पेड़ के साथ फोटो खिंचवाने आते हैं, जो इसके अस्तित्व के लिए खतरा है।

छोटे से टापू पर मौजूद अकेले पेड़ को बचाने में लगा है ये देश! सेल्फी लेने वाले टूरिस्ट कर रहे हैं बर्बाद

पेड़ के साथ सेल्फी लेने के लिए जुटे लोग
कुछ महीने बाद, एक पर्यटक ने फेसबुक पर घोषणा की कि पेड़ का स्थान एक प्रसिद्ध थाई कॉमिक बुक के एक दृश्य जैसा दिखता है। तभी से यहां सेल्फी प्रतियोगिता चल रही है। सेल्फी के अलावा लोग फोटो लेने के लिए इन पेड़ों पर लटकने लगे। यह द्वीप इतना छोटा है कि यहां एक बार में केवल 5 लोग ही खड़े हो सकते हैं, लेकिन लोगों की चहल-पहल के कारण यह जगह पर्यटकों से भरी रहती है।

पेड़ से शुरू होगा बचाव कार्य
जाइलोकार्पस रुम्फी नामक यह वृक्ष अधिक पर्यटकों के आने से क्षतिग्रस्त हो रहा है। प्रशासन ने जब पेड़ का जायजा लिया तो पाया कि पेड़ पिछले साल की तुलना में ज्यादा मुड़ा हुआ था. इसके अलावा, पेड़ की कई शाखाएं टूट जाती हैं और चट्टान पर जड़ें भी टूट जाती हैं। द नेशन नामक एक समाचार वेबसाइट से बात करते हुए, द्वीप के संरक्षण संगठन के निदेशक लेट्रोब सैथोंगपु ने कहा कि प्रशासन पेड़ को बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। कुछ ही पर्यटकों को पेड़ों के करीब आने की अनुमति होगी और पर्यटक अपनी पसंद के मौसम में ही यहां आ सकेंगे। साथ ही पेड़ को बचाने के लिए अभियान चलाया जाएगा और लोगों को इसकी सुरक्षा के लिए जागरूक किया जाएगा.

Post a Comment

From around the web