ये है दुनिया के 5 सबसे गंदे और घटिया जॉब्स, जिनमे सैलरी में मिल जाते है लाखों रुपए, फिर भी कोई नहीं करना चाहता ये काम

 
s

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। आज हम आपको दुनिया के उन 5 कामों के बारे में बताएंगे, जिन्हें भारत में लोग नीची नजर से देखते हैं और अगर भारतीयों को ये नौकरियां दी जाएं तो शायद वे इसे कर लेंगे। आपने फिल्म 'कंपनी' का एक गाना सुना होगा, 'गंदा है पर धड़ा है ये!' दुनिया में कई चीजें ऐसी होती हैं जो दूसरों की नजर में अच्छी नहीं होती लेकिन जो लोग उन्हें करते हैं वो सिर्फ पैसे के लिए करते हैं। आज हम आपको दुनिया के उन 5 कामों के बारे में बताएंगे, जिन्हें भारत में लोग नीची नजर से देखते हैं और अगर भारतीयों को ये नौकरियां दी जाएं तो शायद वे इसे कर लेंगे। बड़ी बात यह है कि इन कार्यों में भारतीय मुद्रा के अनुसार लाखों रुपये मिलते हैं। रिपोर्ट में उल्लिखित वेतन भारत के अनुसार नहीं बल्कि दुनिया के विभिन्न देशों के अनुसार है।

अपराध स्थल वह स्थान है जहां अपराध किया गया है। जब जगह की पूरी तरह से जांच की जाती है, तो इसे साफ करने के लिए क्राइम सीन क्लीनर कहलाते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि कई देशों में ये लोग सालाना 60 लाख रुपए तक कमाते हैं लेकिन इनका काम बहुत गंदा होता है। उन्हें अपराध स्थल से शवों और अन्य वस्तुओं को हटाना होगा। शवों के पास पनपने वाले बैक्टीरिया भी लोगों को संक्रमित कर सकते हैं।

भारत में आपने देखा होगा कि कचरा उठाने के लिए वाहन लेकर आने वाले कूड़ा उठाने वाले (कचरा उठाने वाले) का काम कितना मुश्किल और गंदा होता है। उन्हें लोगों के घरों में जाकर सड़ा हुआ कूड़ा उठाना पड़ रहा है। कई जगहों पर ये लोग साल में 47 लाख रुपये तक कमाते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि अगर हमें यह काम दिया जाए तो हम कभी नहीं करना चाहेंगे।

कई देशों में पोर्टेबल टॉयलेट क्लीनर हैं। दरअसल, कई जगहों पर ऐसे शौचालय होते हैं जिन्हें एक जगह से दूसरी जगह शिफ्ट किया जा सकता है. अब वे किसी शौचालय की टंकी या खाली करने के अन्य साधनों से नहीं जुड़े हैं। ऐसे में इन्हें साफ करने के लिए इन टॉयलेट क्लीनर की जरूरत होती है, जो रोजाना लोगों का मल साफ करते हैं। उन्हें भी 47 लाख रुपए साल मिलते हैं, लेकिन काम बिल्कुल घिनौना है।

समुद्री जीवों का उपयोग भोजन के लिए किया जाता है और समुद्री भोजन का व्यवसाय भी बहुत सफल माना जाता है। इससे जुड़ा एक काम केकड़ा मछली पकड़ना है। जो लोग ऐसा करते हैं, उनकी जान को खतरा होता है क्योंकि पहले उन्हें समुद्र का सामना करना पड़ता है और फिर उन्हें उस खतरनाक केकड़े का भी सामना करना पड़ता है जिसके काटने से सुन्नता आती है। वे जितने अच्छे केकड़े पकड़ते हैं, उतना ही अधिक लाभ कमाते हैं। वाइज स्टेप वेबसाइट के मुताबिक ये लोग दो महीने में 40 लाख रुपये तक कमाते हैं।

प्रोक्टोलॉजिस्ट डॉक्टर होते हैं जो मलाशय की जांच करते हैं। उन्हें रोगी के मलाशय और उनके मल की जांच करनी होती है। हालांकि वे डॉक्टर हैं, लेकिन काम काफी अप्रिय है। कई देशों में ये डॉक्टर साल में 3 करोड़ रुपये तक कमाते हैं, लेकिन कई लोग तब भी यह काम नहीं करना चाहते।

Post a Comment

From around the web