ये है दुनिया की सबसे अनोखी घड़ी, जिसमें नहीं बजते कभी बारह, जानिए क्या है वजह

 
ये है दुनिया की सबसे अनोखी घड़ी, जिसमें नहीं बजते कभी बारह, जानिए क्या है वजह

ल़ाईफस्टाइल न्यूज डेस्क।। घड़ी का हमारे जीवन में बेहद महत्व होता है, जब भी हमें कहीं जाना होता है या कोई काम करना होता है तो हम समय देखना कभी नहीं भूलते. दुनिया की हर घड़ी में 1 से लेकर 12 ही बजते हैं लेकिन आज हम आपको एक ऐसी घड़ी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें कभी 12 नहीं बजते. ये बात सुनकर यकीनन आपको हैरानी हो रही होगी, लेकिन बात बिल्कुल सच है. क्योंकि स्विटजरलैंड के सोलोथर्न शहर में एक ऐसी ही घड़ी लगी हुई है. जिसमें 12 बजते ही नहीं हैं बल्कि इसमें सिर्फ एक से लेकर 11 बजे तक के ही नंबर दिए गए हैं. दरअसल, इस शहर के टाउन स्क्वेयर पर एक घड़ी लगी है. उस घड़ी में घंटे के सिर्फ 11 अंक ही हैं. उसमें से 12 नंबर गायब है. वैसे यहां पर और भी कई घड़ियां हैं, जिसमें 12 नहीं बजते है. बता दें कि इस शहर की सबसे बड़ी खासियत है कि यहां के लोगों को 11 नंबर से काफी लगाव है. यहां की जो भी चीजे हैं, उनका डिजाइन 11 नंबर के आस-पास ही घूमता रहता है. इस शहर में चर्च और चैपलों की संख्या 11-11 ही है. इसके अलावा संग्रहालय, ऐतिहासिक झड़ने और टावर भी 11 नंबर के हैं. यहां के सेंट उर्सूस के मुख्य चर्च में भी 11 नंबर का महत्व आपको साफ दिख जाएगा. दरअसल, यह चर्च भी 11 साल में ही बनकर तैयार हुआ था. यहां तीन सीढ़ियों का सेट है और हर सेट में 11 पंक्तियां हैं. 


संबंधित कहानियां

ये है अनोखी घड़ी, जिसमें नहीं है बारह नंबर | NewsTrack Hindi 1
इसके अलावा यहां 11 दरवाजे और 11 घंटियां भी हैं. यहां के लोगों को 11 नंबर से इतना लगाव है कि वो अपने 11वें जन्मदिन को खास तरह से सेलिब्रेट करते हैं. इस अवसर पर दिए जाने वाले तोहफे भी 11 नंबर से ही जुड़े होते हैं. 11 नंबर के प्रति लोगों के इतने लगाव के पीछे एक सदियों पुरानी मान्यता है. कहते हैं कि एक समय में सोलोथर्न के लोग काफी मेहनत करते थे, मगर इसके बावजूद उनके जीवन में खुशियां नहीं थी. कुछ वक्त के बाद यहां की पहाड़ियों से एल्फ आने लगे और उन लोगों का हौसला बढ़ाने लगे.एल्फ के आने से वहां के लोगों के जीवन में खुशहाली आने लगी. दरअसल, एल्फ के बारे में जर्मनी की पौराणिक कहानियों में सुनने को मिलता है. कहते हैं कि इनके पास अलौलिक शक्तियां होती हैं और जर्मन भाषा में एल्फ का अर्थ 11 होता है. इसलिए सोलोथर्न के लोगों ने एल्फ को 11 नंबर से जोड़ दिया और तब से यहां के लोगों ने 11 नंबर को महत्व देना चालू कर दिया.

Post a Comment

From around the web