लुका-छिपी खेल के दौरान फ्रीजर में छुपी 2 मासूमों की दर्दनाक मौत, एक लापरवाही से गयी जान

 
लुका-छिपी खेल के दौरान फ्रीजर में छुपी 2 मासूमों की दर्दनाक मौत, एक लापरवाही से गयी जान

लाइफस्टाइल डेस्क।।  बहुत ही दर्दनाक और दुखद घटना सामने आई है. सांताकुकी के एक खेल के दौरान फ्रीजर में फंसने से दो युवतियों की दम घुटने से मौत हो गई। माता-पिता और अभिभावकों की लापरवाही के कारण दुनिया को देखने लगे इन दो मासूमों को मौत के कगार पर धकेल दिया गया। आइए आपको बताते हैं पूरी कहानी।

दुर्घटना कैसे हुई?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मासाज कर्नाटक के मैसूर जिले का एक गांव है. यहां नागराजू और चिक्कदेवम्मा की बेटी भाग्य (12 वर्ष) पड़ोसी राजनेता और गोरम्मा की बेटी काव्या (7 वर्ष) के साथ संतकुकड़ी खेल रही थी। उनके साथ कई अन्य बच्चे भी थे। काफी देर तक ये लोग संताकॉकड़ी खेल रहे थे। जैसे ही भाग्य और काव्या का छुपा हुआ नंबर आया उन्होंने जगह की तलाश शुरू कर दी। इसी दौरान उन्हें छिपाने के लिए एक आइसक्रीम का डिब्बा यानि फ्रीजर मिला। दोनों लड़कियां उसमें जाकर छिप गईं। उस पर ढक्कन भी लगा दिया। जिसके बाद दम घुटने से दोनों की मौत हो गई।

ऐसा हुआ कि

जिसे ढूंढ रहे बच्चे आधे घंटे तक भी नहीं मिले तो उन्होंने तलाश तेज कर दी। इस दौरान बच्चों को फ्रीजर दिखाया गया। जब बच्चों ने ढक्कन खोला तो दोनों बच्चियां अंदर ही अंदर मर चुकी थीं. कोई हलचल नहीं देख बच्चे रोने लगे। शोर सुनकर उनके माता-पिता आए और उन्हें अस्पताल ले गए, लेकिन डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। इस संबंध में पीड़ित परिवार ने कोई तहरीर नहीं दी है।

लापरवाही से बचने के लिए जरूरी हैं ये सावधानियां

लुका-छिपी खेल के दौरान फ्रीजर में छुपी 2 मासूमों की दर्दनाक मौत, एक लापरवाही से गयी जान

अगर आपके घर में छोटे बच्चे हैं तो आपको बहुत सावधान रहने की जरूरत है। जब दोनों पति-पत्नी काम कर रहे हों तो इस सतर्कता को बढ़ाया जाना चाहिए।

अगर कमरा पहली मंजिल पर या ऊपर है, तो बालकनी पर ऐसा कुछ भी न रखें जिससे बच्चा ऊपर चढ़ सके और नीचे देख सके। जिससे वह दुर्घटना का शिकार हो सकता है।

बेहतर होगा कि बालकनी को नेट से ढक दें।

घर में बिजली के सॉकेट आदि को ढक कर रखें ताकि बच्चे उनमें अपनी उंगली न डालें।
गैस और बिजली के उपकरणों को बच्चों की पहुंच से दूर रखें।

वैसे तो बच्चों को घर में अकेला नहीं छोड़ना चाहिए, लेकिन अगर आपके पास उन्हें छोड़ने के अलावा कोई चारा नहीं है, तो आप अपने आसपास के लोगों को भी ध्यान रखने के लिए कह सकते हैं। अगर आपके पास यह विकल्प नहीं है तो आप घर में सीसीटीवी कैमरे लगाकर भी बच्चों पर मोबाइल के जरिए नजर रख सकते हैं।

बच्चों को समय-समय पर बताएं कि उनके लिए क्या खतरनाक हो सकता है। खेलते समय उन्हें क्या करना चाहिए और क्या नहीं।

Post a Comment

From around the web