दो महीने में इस मंदिर में आया किसी छोटे देश की GDP से भी ज्यादा दान, जानिए यहां की ....

 
दो महीने में इस मंदिर में आया किसी छोटे देश की GDP से भी ज्यादा दान, जानिए यहां की ....

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। श्री सांवलिया जी मंदिर मेवाड़ का प्रख्यात कृष्णधाम पुरे ​देश में विख्यात है। श्रीसांवरा सेठ के दर्शन के लिए यहां हर महीने करोड़ों श्रद्धालु आते हैं। बता दें कि राजस्थान के साथ ही साथ पूरे देश में प्रख्यात कृष्णधाम श्री सांवलियाजी मंदिर काफ़ी विख्यात है। अपना एक इतिहास इस मंदिर का है और चढ़ावे वग़ैरह के मामले में भी यह मंदिर काफ़ी आगे है।

बता दें कि चतुर्दशी पर शुक्रवार को इस मंदिर में दो माह बाद जब भंडार के द्वार खुले तो क़रीब 5 करोड़ 94 लाख 5 हजार 300 रुपए की राशि भंडार से निकली है। वहीं 2 करोड़ 03 लाख से ज्यादा की राशि मंदिर मंडल कार्यालय में भेंट स्वरूप अलग से प्राप्त हुई हैं। बता दें कि  सांवलिया जी मंदिर का भंडार मंदिर मंडल कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार दीपावली की वजह से उस चतुर्दशी पर नहीं खोला जाता है और यह वर्षों की परंपरा रही है।

जब खोला गया दो महीने बाद मंदिर का भंडार, तो किसी छोटे देश की GDP से ज्यादा निकला कैश

वहीं दो माह बाद जब शुक्रवार को भंडार खोले गए तो बड़ी राशि भंडार से निकली है जबकि रेजकारी व 6 बोरों में भरे हुए नोटों की गणना बाकी है। भंडार तथा मंदिर कार्यालय में प्राप्त आभूषण चढ़ावे के रूप में का तोल भी बाकी है। ऐसे में  अंदाज़ा लगा सकते हैं कि किस बेहिसाब तरीके से इस मंदिर को चढ़ावा मिलता है और यहां आने वाले भक्तों की संख्या कितनी अधिक होगी।


दो माह के बाद खोले गए सांवलियाजी चौराहे स्थित प्राकट्य स्थल मंदिर में भी भंडार से लगभग 38 लाख 50 हजार 340 रुपए की राशि प्राप्त हुई है और उपाध्यक्ष बाबूलाल ओझा, मंत्री शंकर लाल जाट, इंद्रमल उपाध्याय, जीएल मीणा के अलावा मंदिर कार्मिक व बैंक कर्मी इन नोटों की गिनती के वक्त उपस्थित थे।

Post a Comment

From around the web