पोस्ट को लेकर Instagram के सीईओ की सफाई

 
s

इंस्टाग्राम के सीईओ एडम मोसेरी ने विस्तार से बताया है कि फेसबुक के स्वामित्व वाला फोटो शेयरिंग प्लेटफॉर्म कैसे तय करता है कि उपयोगकर्ता क्या देखते हैं। उन्होंने ये जानकारी इन गलतफहमियों को दूर करने के लिए दी है कि इंस्टाग्राम जानबूझकर कुछ पोस्ट छुपाता है। मंगलवार को पोस्ट की एक श्रृंखला में साझा करते हुए, मोसेरी ने कहा कि इंस्टाग्राम में एक एल्गोरिदम नहीं है जो यह देखता है कि लोग क्या करते हैं, और ऐप में क्या नहीं देखते हैं।

उन्होंने बताया कि “हम कई तरह के एल्गोरिदम, क्लासिफायर और प्रक्रियाओं का उपयोग करते हैं, सबका अपना उद्देश्य होता है। हम आपके समय का अधिकतम फायदा उठाना चाहते हैं । हम मानते हैं कि अपने अनुभव को निजीकृत करने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करना ऐसा करने का सबसे अच्छा तरीका है।”

जब यह पहली बार 2010 में लॉन्च किया गया था, तो इंस्टाग्राम ही कालानुक्रमिक क्रम में तस्वीरों को साझा करता था।

आज, ऐप का हर भाग – फीड, एक्सप्लोर, रील्स – लोगों द्वारा इसका उपयोग करने के तरीके के अनुरूप अपने स्वयं के एल्गोरिदम का उपयोग करता है।

कंपनी के सीईओ ने कहा, “लोग स्टोरीज में अपने सबसे करीबी दोस्तों की तलाश करते हैं, लेकिन वे एक्सप्लोर में कुछ नया खोजना चाहते हैं। हम ऐप के अलग-अलग हिस्सों में चीजों को अलग-अलग तरीके से रैंक करते हैं और इस आधार पर कि लोग उनका उपयोग कैसे करते हैं।”

इसके बाद मोसेरी ने बताया कि कैसे वर्षों से कंपनी को पता चला कि फीड और स्टोरीज ऐसी जगहें हैं, जहां लोग अपने दोस्तों, परिवार और उनके सबसे करीबी लोगों के कोंटेंट देखना चाहते हैं।

उन्होंने समझाया “हम उन चीजों के सेट को परिभाषित करते हैं जिन्हें हम पहले स्थान पर रखने की योजना बना ्नरहे हैं। फीड के साथ और कहानियों के साथ यह अपेक्षाकृत सरल है। यह आपके द्वारा अनुसरण किए जाने वाले लोगों द्वारा साझा की गई सभी हालिया पोस्ट हैं। कुछ अपवाद हैं, जैसे विज्ञापन, लेकिन आप जो देखते हैं उसका अधिकांश हिस्सा आपके द्वारा अनुसरण किए जाने वाले लोगों द्वारा साझा किया जाता है।”

“इसके बाद हम जो भी पोस्ट किया गया था, उन पोस्ट को बनाने वाले लोगों और आपकी प्राथमिकताओं के बारे में सभी जानकारी लेते हैं। हम इन्हें ‘सिग्नल’ कहते हैं, और उनमें से हजारों हैं।”

‘सिग्नल’ में पोस्ट शेयर किए जाने से लेकर फोन या वेब का उपयोग करने से लेकर आप कितनी बार वीडियो पसंद करते हैं, सब कुछ शामिल होता है।

फीड और कहानियों में सबसे जरूरी ‘संकेत’, मोटे तौर पर महत्व के क्रम में, पोस्ट के बारे में जानकारी, पोस्ट करने वाले व्यक्ति के बारे में जानकारी, आपकी गतिविधि और किसी के साथ बातचीत करने का आपका इतिहास हैं।

मोसेरी ने कहा, “वहां से हम भविष्यवाणियों का एक सेट बनाते हैं। ये शिक्षित अनुमान हैं कि आप विभिन्न तरीकों से किसी पोस्ट के साथ बातचीत करने की कितनी संभावना रखते हैं। इनमें से लगभग एक दर्जन हैं।”

इंस्टाग्राम सीईओ ने कहा, “अगर आप कुछ ऐसा पोस्ट करते हैं जिसे थर्ड-पार्टी फैक्ट चेकर्स गलत सूचना के रूप में लेबल करते हैं, तो हम इसे कम नहीं आंकते हैं। हम एक लेबल लागू करते हैं और पोस्ट को फीड और स्टोरीज में नीचे दिखाते हैं। अगर आप कई बार गलत सूचना पोस्ट करते हैं तो हम आपके सभी कंटेंट को खोजने की राह मुश्किल बनाते हैं।”

लोग अक्सर इंस्टाग्राम पर ‘शैडोबैनिंग’ या उन्हें चुप कराने का आरोप लगाते हैं।

मोसेरी ने कहा, “हम मानते हैं कि हमने हमेशा यह समझाने की कोशिश नहीं की, कि हम कंटेंट को क्यों हटाते हैं, क्या अनुशंसित है और क्या नहीं, और इंस्टाग्राम अधिक व्यापक रूप से कैसे काम करता है।”

उन्होंने कहा, “हम यहां सुधार पर कड़ी मेहनत कर रहे हैं। हम एक दिन में लाखों रिपोटरें का प्रबंधन भी करते हैं, जिसका मतलब है कि उन रिपोटरें के एक छोटे से प्रतिशत पर भी गलती करने से हजारों लोग प्रभावित होते हैं।”

-आईएएनएस

Post a Comment

From around the web