भारत के 10 अनसुलझे रहस्य जानिए...

 
s

लाइफस्टाइल डेस्क, जयपुर।। विज्ञान भले ही कितना भी आगे बढ़ चुका हो, लेकिन दुनिया में आज भी कुछ ऐसे अनसुलझे रहस्‍य हैं जिनको सुलझाने में विज्ञान अपने हाथ खड़े कर देता है। विज्ञान जहां अपने तर्क देने में पीछे रह जाता है वहीं पारलौकिक शक्तियों पर लोगों का यकीन जगने लगता है और लोग भूत-प्रेत और दूसरी शक्तियों की बात करने लगते हैं। आइए रहस्यमयी दुनिया के सफर पर चलते हैं और देखते हैं आखिर यहां कौन सी शक्तियां काम करती हैं जो विज्ञान को चुनौती दे रही हैं…

खूनी नदी, ना जाने कितनों को निगल चुकी है
दिल्ली के रोहिणी में बहने वाली यह है एक नहर जिसे लोग खूनी नदी के नाम से जानते हैं। इस नदी के आस-पास कई लोगों के शव मिल चुके हैं। लोगों का ऐसा कहना है कि नदी के आस-पास कई बार चीखने-चिल्लाने की डरावनी आवाजें आती हैं। बहुत से लोग यहां आत्महत्या भी कर चुके हैं। लोगों में ऐसी धारणा बनी हुई है कि नदी अपनी ओर लोगों को खींचती है। इस बात में कितनी सच्चाई है इसे विज्ञान को ही जांचने दीजिए आप किसी तरह का जोखिम ना लें यही बेहतर होगा।

राजस्‍थान में कुलधरा, जहां है भूतों का डेरा
कहते हैं कि कुलधरा में भूतों का डेरा है। राजस्‍थान के पुराने लोग बताते हैं कि यहां सबसे आखिर में रहने वाले पालीवाल ब्राह्मण थे। माना जाता है कि जाते-जाते ये लोग इस जगह को शाप देकर गए थे कि इनके बाद यहां कोई रह नहीं सकेगा। तब से आज तक यहां कोई रहने का साहस नहीं जुटा सका है। अब यहां प्रेतात्‍माओं का वास माना जाता है।

s

शेतिहाली में डूबता हुआ चर्च
 चर्च जहां लोग जीसस क्राइस्‍ट से प्रार्थना करने आते हैं। मगर एक चर्च ऐसा भी है जो अक्सर पानी में डूब रहा है। यह चर्च अपने आप में किसी आश्‍चर्य से कम नहीं है। कई महीनों तक पानी में डूबा रहता है और उसके बाद पानी का स्‍तर घटते ही यह ऊपर आ जाता है। लेकिन सूर्यास्त के समय यह डरवाना महसूस होने लगता है। जबकि यहां कोई नहीं होता।

गुजरात में दमास बीच भी है कुछ अलग
लोग मौज-मस्‍ती करने के लिए बीच पर आते हैं और डूबते हुए सूरज की खूबसूरती को निहारते हैं। मगर यह गुजरात का दमास बीच औरों से अलग है। यहां पर आने वाले पर्यटक बताते हैं कि उन्‍होंने यहां पर कुछ अलग प्रकार की आवाजें सुनी हैं। कुछ लोगों का कहना है कि उन्‍होंने यहां पर कुछ परछाइयों को भी चलते हुए देखा है।

किंग कोबरा के राज में ऐसे जीते हैं लोग
दुनिया में जहां हर कोई सांप से डरता है वहीं महाराष्‍ट्र में एक जगह ऐसी भी है जिसे सर्पलोक कहा जा सकता है। यहां शेतपाल नाम की एक जगह है जहां सांपों के राजा किंग कोबरा का राज चलता है। यहां बच्‍चा-बच्‍चा सांप से खेलता है और सांप भी बच्‍चों से उतना ही प्‍यार करते हैं। यहां रहने वाले सभी लोगों के लिए अपने घर में एक सांप रखना आवश्‍यक है। आज तक यहां सांप के काटने का एक भी मामला सामने नहीं आया है।

जुड़वां लोगों के लिए जानी जाती है यह जगह
दक्षिण भारत के एक स्‍थान का नाम है कोडिन्‍ही। यह जगह जुड़वां लोगों के लिए जानी जाती है। भारत के सबसे रहस्‍यात्‍मक स्‍थानों में से एक है यह जगह। अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर के कई वैज्ञानिक यहां आकर शोध कर चुके हैं मगर कोई भी इस रहस्‍य को नहीं सुलझा सका है कि यहां ​अक्सर जुड़वां बच्‍चे ही क्‍यों पैदा होते हैं। जानकारी के मुताबिक, यहां 500 से भी अधिक जुड़वां हैं।

हावड़ा में गंगा का रहस्‍यमयी घाट
दुनिया की पवित्र नदियों में से एक है गंगा। भारतीय संसकृति में इन्हें मां मानकर पूजा जाता है। मगर कोलकाता में हावड़ा ब्रिज के पास गंगा के घाटों को लेकर अजीब सी जानकारियां मिलती हैं। बताते हैं कि यहां कई रहस्‍यमयी मौतें हो चुकी हैं।

भानगढ़ का रहस्यमयी किला
वैसे तो अलवर देश के कुछ खूबसूरत शहरों में से एक माना जाता है, लेकिन यहां का भानगढ़ किला अपने आप में किसी रहस्‍य से कम नहीं है। कहते हैं यहां का एक अपना रहस्‍यमयी इतिहास है। पर्यटकों को इस किले में शाम के 6 बजे के बाद आने की मनाही है। माना जाता है कि शाम के बाद यहां राजा और रानी का आत्‍मा भटकती है।

असम में पक्षियों द्वारा सामूहिक रूप से आत्‍महत्‍या करना
असम के आदिवासी इलाके जटिंगा में एक ऐसी घटना हुई, जिसे सुनकर सहसा यकीन नहीं होता। यहां शाम को सूर्यास्‍त के वक्‍त सैकड़ों पक्षी उड़ते-उड़ते अचानक आसमान से नीचे आ गिरे। कुछ लोगों ने इसे पक्षियों द्वारा की गई सामूहिक आत्‍महत्‍या कहा तो कुछ का मानना है कि पक्षियों ने आत्‍महत्‍या नहीं की बल्कि उनको मार गिराया गया। खैर सच्‍चाई जो भी हो, लेकिन यहां आने वाले लोगों के लिए यह जगह उत्‍सुकता की विषय है।

जमाली-कमाली मस्जिद
मान्‍यता है कि सूफी संत जमाली और कमाली को यहां दफन किया गया था। यहां आने वाले पर्यटकों ने इस मस्जिद कुछ असामान्‍य घटनाएं देखी हैं। कहते हैं यहां शाम को सूर्यास्‍त के बाद आना खतरे से खाली नहीं है।

Post a Comment

From around the web