घर, कार या कपड़े नहीं यहां दहेज में दामाद को दिए जाते हैं 21 सांप

 
s

लाइफस्टाइल डेस्क, जयपुर।। अक्सर एक बेटी की शादी में पिता अपनी खुशी से दामाद को पैसों से लेकर गाड़ी तक उपहार स्वरूप भेंट करता है, लेकिन जरा सोचिए की कोई पिता अपनी बेटी को शादी में गहने, गिफ्ट्स का न देकर जहरीले सांप दे तो? है न हैरानी की बात. बात बेशक हैरानी की हो, लेकिन यह सौ फीसदी सच है। इस प्रथा का चलन हमारे ही देश में मध्य प्रदेश के एक विशेष समुदाय में है। भारत के मध्यप्रदेश में गौरिया समुदाय के लोगों द्वारा यह परंपरा निभाई जाती है. यहां पर ससुर अपने दामाद में बेटी की शादी पर कुल 21 जहरीले सांपों को गिफ्ट के रूप में देता है. इस समुदाय में यह परंपरा सदियों से चली आ रही है. मान्यता है कि अगर इस समुदाय से जुड़ा कोई शख्स अपनी बेटी को शादी में सांप नहीं देता है, तो उसकी बेटी की शादी जल्दी ही टूट जाती है.

इस वजह से दिए जाते हैं दहेज में जहरीले सांप

ऐसा कहा जाता है कि यहां बेटी की शादी तय होने के बाद पिता अपने दामाद को तोहफा देने के लिए सांप पकड़ना शुरू कर देते हैं. इनमें गेंहुअन जैसे जहरीले सांप भी होते हैं. आपको जानकार हैरानी होगी कि इन समुदाय के बच्चे को उन जहरीले सांपों से डर नहीं लगता बल्कि वो उनके साथ आराम से खेलते नजर आते हैं.

s

बेटी को दहेज में 21 सांप देने की परंपरा इस वजह से चल रही है, क्योंकि इस समुदाय का प्रमुख काम सांप पकड़ना है. गौरिया समुदाय के लोग सांप के जरिए ही पैसा कमाते हैं. गौरिया समुदाय में किसी बेटी की शादी फिक्स होती है तब लड़की का पिता जहरीले सांपों को इकट्ठा करने में जुट जाता है. बेटी के पिता द्वारा दामाद को सांप इस वजह से दिए जाते हैं, ताकि वह परिवार का पेट पाल सके.

इस समुदाय के लोग सांप को अपने घर के सदस्यों की तरह रखते व पालते हैं. अगर कोई सांप इनके पिटारे से मर जाए तो उस परिवार के सभी सदस्यों को पश्चाताप के तौर पर मुंडन करवाने पड़ते हैं. इसके साथ ही सांप के नाम का भोज भी आयोजन करना पड़ता है. इन सभी नियमों का सख्ती से पालन किया जाता है, ताकि कोई भी सांपों को किसी तरह की हानि न पहुंचा सके.

Post a Comment

From around the web