ऐसा आश्रम जहां पत्नी द्वारा सताए पतियों को मिलती है पनाह, लेकिन शर्त है बस इतनी सी ..

 
rtg

इंटरनेट पर इन दिनों एक ऐसी खबर वायरल हो रही है, जो बेहद चौंकाने वाली है. इस खबर में यह बताया जा रहा है कि देश में पत्नी के सताए पतियों के लिए एक आश्रम बनाया गया है. यही नहीं, इसके साथ उस आश्रम के बोर्ड की तस्वीर भी इंटरनेट पर वायरल हो रही है. सोशल मीडिया पर तो इस खबर को किसी ने मजाक कहा तो किसी ने इसे गंभीरता से लिया, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो ऐसा आश्रम सच में है, जो महाराष्ट्र के औरंगाबाद से करीब 12 किमी दूर पर स्थित है.

पिछले साल हुई थी आश्रम की स्थापना
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस आश्रम में सिर्फ वही लोग आते हैं जो पत्नी से पीड़ित हैं. इस आश्रम के फाउंडर भारत फुलारे हैं जो खुद पत्नी पीड़ित हैं. उनका कहना है कि पत्नी ने उनके खिलाफ 147 केस कर रखे हैं. बता दें, इस आश्रम की स्थापना 19 नवंबर 2016 को पुरुष अधिकार दिवस के अवसर पर की गई थी. अब तक देशभर से यहां पर 500 से ज्यादा लोग काउंसलिंग के लिए आ चुके हैं और कुछ लोग ऐसे हैं जो यहां पर रहते हैं.

आश्रम में पूजा जाता है कौआ 
आश्रम में भारत फुलारे केस स्टडी के लिए फाइल बनाते हैं और केस की कमजोर कड़ी का पता लगाते हैं. साथ ही मामलों के लिए कानूनी विशेषज्ञों की सलाह भी ली जाती है. उनका कहना है कि खुद के केस के चलते उन्हें कुछ महीनों तक शहर के बाहर रहना पड़ा. इसी दौरान तीन लोग और मिले जो पत्नी पीड़ित थे. इसी के बाद आश्रम बनाने का ख्याल आया. यहां रहने वालों का कहना है कि मादा कौआ अंडा देकर उड़ जाती है और नर कौआ ही चूजों का पालन पोषण करता है. ये स्थिति एक पत्नी पीड़ित पति से मिलती है. इसलिए आश्रम में कौआ पूजा जाता है.

इस शर्त पर ही मिल सकती है एंट्री 
इस आश्रम में रहने के लिए एक मुश्किल शर्त है, जिसके मुताबिक यहां पर वही पति रह सकता है जिस पर उसकी पत्नी ने कम से कम 20 मामले दर्ज किए हों. करीब 1200 वर्गफीट की जगह में बने इस आश्रम में तीन कमरे हैं. यहां हर शनिवार और रविवार को पत्नी पीड़ितों की काउंसलिंग की जाती है. आश्रम में रहने वाले पुरुष पैसे जमा कर यहां का खर्चा उठाते हैं और खाना बनाने से लेकर दूसरे काम तक स्वयं ही करते हैं.

Post a Comment

From around the web