Follow us

ब्रिटेन के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री कीर स्टार्मर ने की पीएम मोदी के नेतृत्व कौशल की सराहना

 
ब्रिटेन के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री कीर स्टार्मर ने की पीएम मोदी के नेतृत्व कौशल की सराहना

नई दिल्ली, 6 जुलाई (आईएएनएस)। ब्रिटेन के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री कीर स्टार्मर ने शनिवार को प्रमुख वैश्विक चुनौतियों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व का स्वागत किया, दोनों नेताओं ने ब्रिटेन के आम चुनाव के नतीजे के बाद शनिवार को फोन पर बात की।

ब्रिटिश पीएम कार्यालय की तरफ से जारी एक एक बयान में कहा गया, "प्रधानमंत्री ने फोन कॉल पर कहा कि वह दोनों देशों के बीच मजबूत और सम्मानजनक संबंधों को और बेहतर करने के लिए तत्पर हैं, और जलवायु परिवर्तन और आर्थिक विकास जैसी प्रमुख वैश्विक चुनौतियों पर प्रधानमंत्री मोदी के पहल और नेतृत्व का स्वागत करते हैं।"

इसमें उल्लेख किया गया है कि दोनों नेताओं ने यूके और भारत के बीच लिविंग ब्रिज, 2030 रोडमैप के महत्व पर चर्चा की और इस बात पर सहमति व्यक्त की कि दोनों देशों के लिए रक्षा और सुरक्षा, महत्वपूर्ण और उभरती प्रौद्योगिकी और जलवायु परिवर्तन जैसे क्षेत्रों की एक विस्तृत श्रृंखला है जिस पर दोनों देश सहयोग बेहतर करेंगे।

स्टार्मर के कार्यालय ने कहा, "मुक्त व्यापार समझौते पर चर्चा करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि वह एक ऐसा समझौता करने के लिए तैयार हैं जो दोनों देशों के लिए समान रूप से काम करेगा।"

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कीर स्टार्मर को शीघ्र भारत की यात्रा के लिए निमंत्रण भी दिया।

पीएम मोदी ने आम चुनावों में स्टार्मर को उनकी और लेबर पार्टी की 'बेहतरीन जीत' पर बधाई दी।

कॉल के बाद पीएम मोदी ने एक्स पर पोस्ट किया, "कीर स्टार्मर से बात करके खुशी हुई। उन्हें ब्रिटेन का प्रधानमंत्री चुने जाने पर बधाई दी। हम अपने लोगों की प्रगति और समृद्धि और वैश्विक भलाई के लिए व्यापक रणनीतिक साझेदारी और मजबूत भारत-ब्रिटेन आर्थिक संबंधों को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।"

दोनों नेताओं ने दोनों देशों के बीच ऐतिहासिक संबंधों को याद किया और भारत और यूके के बीच व्यापक रणनीतिक साझेदारी को और गहरा करने और आगे बढ़ाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दिखाई।

पीएमओ की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि, "ब्रिटेन के सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक विकास में भारतीय समुदाय के सकारात्मक योगदान की सराहना करते हैं। दोनों पक्ष के लोगों के बीच घनिष्ठ संबंधों को बढ़ावा देना जारी रखने पर हम सहमत हुए। दोनों नेता संपर्क में बने रहने पर भी सहमत हुए।"

--आईएएनएस

जीकेटी/

Tags

From around the web