Parenting Tips: इस उम्र में दे सकते हैं खाने के लिए छोटे बच्चों को मछली, Parents जान ले खिलाने का सही तरीका

 
Parenting Tips: इस उम्र में दे सकते हैं खाने के लिए छोटे बच्चों को मछली, Parents जान ले खिलाने का सही तरीका

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। छोटे बच्चों को कुछ भी खिलाना थोड़ा मुश्किल होता है, क्योंकि वे खाने में बहुत अनिच्छुक होते हैं। ऐसे में माता-पिता इस बात पर कितना समय लगाते हैं, उन्हें क्या खिलाएं, जो उन्हें उत्साह के साथ खाना चाहिए। खासकर अगर बच्चे को नॉन वेज देना है तो माता-पिता के मन में यह सवाल उठता है कि किस उम्र में नॉनवेज शुरू किया जाए। मछली बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद होती है, लेकिन इनमें पाए जाने वाले कांटे के कारण माता-पिता इस बात को लेकर थोड़े असमंजस में रहते हैं कि किस उम्र में बच्चों को मछली दें। विशेषज्ञों के अनुसार इस उम्र में आप बच्चों को मछली देना शुरू कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं कब और किस उम्र में बच्चे को मछली खिलानी चाहिए।

इस उम्र में बच्चों को दें मछली
विशेषज्ञों के अनुसार, 6 महीने से शिशुओं में ठोस आहार देना शुरू किया जा सकता है। लेकिन अगर बात उन्हें मछली खिलाने की हो तो आपको एक साल से पहले बच्चों को मछली नहीं देनी चाहिए। जब भी आप 1 साल बाद बच्चे को मछली दें तो यह भी सुनिश्चित कर लें कि उसे मछली से एलर्जी तो नहीं है। अगर परिवार में किसी को समुद्री भोजन से किसी प्रकार की एलर्जी है, तो बच्चों को भी एलर्जी हो सकती है। ऐसे में बच्चों को मछली देने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Parenting Tips: इस उम्र में दे सकते हैं खाने के लिए छोटे बच्चों को मछली, Parents जान ले खिलाने का सही तरीका

पोषक तत्व पाए जाते हैं
मछली में अच्छी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड, विटामिन-डी और विटामिन-बी12 होता है। इसके अलावा मछली में कैल्शियम और फास्फोरस की मात्रा भी काफी अधिक होती है। मछली को जिंक, आयोडीन, मैग्नीशियम और पोटेशियम का भी अच्छा स्रोत माना जाता है। मछली के नियमित सेवन से बच्चों का दिमाग तेज होता है। यह उनके शारीरिक विकास में भी काफी फायदेमंद माना जाता है। मछली में प्रोटीन की गुणवत्ता भी अच्छी मात्रा में पाई जाती है। मछली का सेवन किसी भी उम्र के लोग कर सकते हैं। हालांकि बच्चे को मछली 1 साल के बाद ही देनी चाहिए।

देना कैसे शुरू करें?
बच्चे को ठोस आहार देते समय बहुत सावधानी बरतने की जरूरत है। मछलियों को खिलाते समय उन्हें एक ही समय में विभिन्न प्रकार की मछलियों को न खिलाएं। पहले आप उन्हें वही मछली खिलाएं। मछली देते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि वे मछली को अच्छे से खा सकते हैं या नहीं। इसे खाने के बाद उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई। अगर बच्चे को मछली खाने में कोई दिक्कत नहीं है तो आप बच्चे को हफ्ते में एक बार मछली दे सकते हैं।

बच्चे को मछली खिलाने का सही तरीका
जानकारों के मुताबिक 1 साल बाद आप बच्चे को उबाल कर ही मछली दें। उबली हुई मछली बच्चों के पाचन के लिए फायदेमंद होती है। आप मछली को बेक करके और खोल में हल्का फ्राई करके भी खिला सकते हैं। लेकिन मछली परोसने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि मछली की हड्डियाँ हटा दी गई हैं। बच्चों के गले में फंस सकती है कंटीली मछली

Post a Comment

From around the web