Parenting Tips: बच्चा पढ़ने में करता है नखरे, तो इन ट्रिक्स के साथ Parents बढ़ा सकते है पढाई में रुची

 
Parenting Tips: बच्चा पढ़ने में करता है नखरे, तो इन ट्रिक्स के साथ Parents बढ़ा सकते है पढाई में रुची

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। हर बच्चा एक जैसा नहीं होता। कुछ बच्चे बहुत तेज होते हैं तो कुछ बहुत प्यारे। कई बच्चे अपने माता-पिता से बात किए बिना पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करते हैं। ऐसे बच्चे अपने माता-पिता पर ज्यादा दबाव डालने की जरूरत तक नहीं पढ़ते। लेकिन माता-पिता अक्सर उन बच्चों को लेकर चिंतित रहते हैं जो पढ़ाई से दूर रहते हैं। ऐसे बच्चों की पढ़ाई में रुचि पैदा करना मुश्किल नहीं है। आरंभ करने में आपकी सहायता के लिए यहां कुछ युक्तियां दी गई हैं। तो आइए जानते हैं इनके बारे में...

बच्चों के साथ बैठो
बच्चे जब भी पढ़ते हैं तो आप खुद उनके साथ बैठते हैं। उनसे उनकी पढ़ाई के बारे में पूछते रहें। आप उन्हें खुद सिखाने की कोशिश करें। इससे बच्चे की पढ़ने में रुचि बढ़ेगी। आप उससे उसके पसंदीदा विषय के बारे में सवाल और जवाब पूछें। बच्चे पढ़ने में रुचि लेने लगेंगे।

बच्चा पढ़ने में करता है नखरे, तो इन ट्रिक्स के साथ Parents बढ़ा सकते है पढाई में रुची

नंबरों पर ध्यान न दें
जब भी आप बच्चे को तैयार करें तो नंबर न मांगें। अपने बच्चों को नंबर लाने के बजाय नई चीजें सिखाने पर जोर दें। अंक बच्चे के आत्मविश्वास को कमजोर कर सकते हैं। इसके साथ ही वह सिर्फ नंबर लेने की जिद करेगा। आप उन्हें सब कुछ बताने की कोशिश करते हैं।

एक अध्ययन कार्यक्रम तैयार करें
आप अपने बच्चे को पढ़ने के लिए अलग समय देते हैं। ताकि बच्चा अपने सारे काम समय पर पूरा कर सके। इससे बच्चे में अपने आप पढ़ने की इच्छा जागृत होगी। अध्ययन कार्यक्रम के अलावा, आपको बच्चों के खाने और खेलने के लिए भी समय निकालना चाहिए। साथ ही उन्हें समय का महत्व भी पता चल जाएगा।

बच्चे की क्षमता को समझें
जब भी आप किसी बच्चे को पढ़ाते हैं तो उसकी क्षमता को समझने की कोशिश करें। आप देखेंगे कि बच्चा पढ़-लिखकर अच्छी तरह याद कर सकता है। इससे आप बच्चे को उसकी क्षमता के अनुसार पढ़ाएं।

बच्चा पढ़ने में करता है नखरे, तो इन ट्रिक्स के साथ Parents बढ़ा सकते है पढाई में रुची

बच्चे को प्रोत्साहित करें
आपको बच्चे को भी प्रोत्साहित करना चाहिए। अगर कोई बच्चा परीक्षा में अच्छे अंक नहीं लाता है तो उसे डांटे नहीं। आपको उसे अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। इससे उनका उत्साह और बढ़ेगा। बच्चे पढ़ाई में अच्छी तरह से ध्यान लगा पाएंगे।

लालच में आकर बच्चे को न पढ़ाएं
कई माता-पिता अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए ललचाते हैं। लेकिन यह विचार हर दिन काम नहीं कर सकता। साथ ही इस वजह से बच्चे रोजाना पढ़ाई में ध्यान नहीं दे पाते हैं। इससे बच्चे बाहरी दिमाग से पढ़ सकेंगे। इसलिए आप उन्हें प्यार से समझाएं और उनकी बात को समझने की कोशिश करें।

Post a Comment

From around the web