अगर लड़की पिरियड्स में बनाये संबंध तो क्या हो सकती है प्रेग्नेंट? जान लिजिए एक्सपर्ट्स की सलाह

 
अगर लड़की पिरियड्स में बनाये संबंध तो क्या हो सकती है प्रेग्नेंट? जान लिजिए एक्सपर्ट्स की सलाह

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। दुनिया में किसी भी महिला के लिए मां बनना सबसे अच्छी फिलिंग में से एक है। 9 महीने तक अपनी कोख में एक महिला जब गर्भवती होती है तो नन्हीं सी जान को संभालकर रखती है। हालांकि जब आपकी प्रेग्नेंसी पहले से प्री-प्लान्ड हो तभी खुशी होती है। मां और पिता दोनों के लिए यदि आप बिना प्लानिंग के प्रेग्नेंट हो जाते हैं तो ये एक बहुत बड़ा झटका होता है। शारीरिक संभोग करने वाला कपल पति पत्नी न हो खासकर उस समय।

बहुत से लोगों को प्रोटेक्शन (कोंडम) के साथ सेक्स करना पसंद नहीं होता है। वहीं कभी कभी ये पास में नहीं होता है और माहौल बन जाता है। कुछ लोग अपनी डेढ़ अक्कल भी लगाते हैं वैसे तो प्रोटेक्शन के साथ संबंध बनाना सबसे सेफ ऑप्शन होता है लेकिन उन्हें लगता है कि यदि वे लड़कियों के पीरियड्स के सेक्स करेंगे तो वह प्रेंग्नेट नहीं होगी। ऐसे में कपल सोचते हैं कि पीरियड्स में सेक्स करें तो भी क्या प्रेग्नेंसी हो सकती है यह एक ऐसा सवाल है जिसका जवाब कई लड़के और लड़कियां ढूंढ रहे हैं। आइए इस सवाल का जवाब जानते हैं।

जब ब्लीडिंग होती है तो लड़की को लगता है कि पीरियड आ गए हैं। हालांकि ऐसा होता नहीं है। ये ओव्यूलेशन से ब्लीडिंग होती है। ये वह टाइम होता है जब यदि सेक्स किया जाए तो लड़कियों के प्रेग्नेंट होने का चांस सबसे अधिक होता है। यह ओव्यूलेशन एक लड़की के पीरियड्स से ब्लीडिंग बंद होने से पहले होता है। जब लड़कियों के अंडाशय से मासिक रूप से अंडे निकलते हैं तो उस प्रक्रिया को ओव्यूलेशन कहते हैं।

अगर लड़की पिरियड्स में बनाये संबंध तो क्या हो सकती है प्रेग्नेंट? जान लिजिए एक्सपर्ट्स की सलाह

जब ये टाइम चल रहा होता है तब महिलाएं बहुत ही आसानी से गर्भवती हो सकती हैं। महिलाओं ने पीरियड्स साइकिल 28 से 35 दिन के होते हैं जिसमें से कुछ दिन ओवुलेशन के आने के होते है। इसे और आसान भाषा में कहे तो महिला के अंडाशय से एग का रिलीज होना ओव्यूलेशन कहलाता है। ये प्रोसेस महिला की बॉडी में हर महीने होती है।

वहीं एक स्पर्म एक अंडे को 3 दिनों तक फर्टिलाइज करने की क्षमता रखता है। ऐसे में यदि कोई लड़की अपने पीरियड्स के अंतिम दिन भी सेक्स करती है तो वह गर्भवती हो सकती है। इसके अलावा स्पर्म यानि शुक्राणु भी आपको पिरियड्स में प्रेग्नेंट करने में अहम रोल निभा सकता है। दरअसल पीरियड्स खत्म होने के कुछ दिनों में ओव्यूलेशन शुरू हो जाता है।

तो कुल मिलाकर आसान शब्दों में कहे तो पीरियड्स में बिना किसी प्रोटेक्शन के सेक्स करना सेफ नहीं होता है। यदि आप इस दौरान फिजिकल रिलेशन रखती हैं तो ये रिस्की हो सकता है। आप प्रेग्नेंट हो सकती वहीं बना प्रोटेक्शन के फिजिकल रिलेशिप बनाना बीमारियों को दावत भी देता है। इसे न सिर्फ संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है बल्कि सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज जैसे एचआईवी भी हो सकती है।

Post a Comment

From around the web