अगर आप भी नहीं कर पा रही है प्रेगनेंसी के दौरान Bra का चुनाव, तो ये टिप्स करें फालो

 
अगर आप भी नहीं कर पा रही है प्रेगनेंसी के दौरान Bra का चुनाव, तो ये टिप्स करें फालो

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। बदलते लाइफस्टाइल में अक्सर लड़कियां कपड़े देख परख कर लेती हैं लेकिन 10 में 7 महिलाएं बात जब ब्रा की आती हो तो लापरवाही कर देती है। लेकिन अपने कपडों की तरह ही ब्रा को भी देख परख कर लेना चाहिए विशेषतर प्रेगनेंसी के दौरान। सभी को पता है कि प्रेगनेंसी के दौरान एक महिला का शरीर काफी बदलावों से गुजरता है। इनमे से हैवी ब्रेस्ट, ढीलापन, शिशु को स्तनपान करवाना इन सब के लिए एक सही ब्रा का चुनाव जरूरी होता है। तो चलिए जानते है इनके बारे में...

क्या प्रेगनेंसी में ब्रा बदलना जरूरी?
प्रेगनेंसी में हार्मोनल उतार-चढ़ाव, पसली एरिया का विस्तार, वजन बढ़ना और स्तन ग्रंथियों में दूध का उत्पादन ऐसे कई कारण है जो हैवी ब्रेस्ट का कारण बनते हैं। इस समय स्तन बड़े हो जाते हैं इसलिए आपको आरामदायक मैटरनिटी ब्रा की जरूरत होती है। ऐसे में आपको फिटिंग सपोर्ट वाली ब्रा ही पहननी चाहिए।

नई ब्रा खरीदने का सही समय?
हर महिला को प्रेगनेंसी में शारीरिक परिवर्तन का एहसास एक समान नहीं होता। कुछ का पहली और आखिरी तिमाही में तो कुछ का प्रेगनेंसी में कप का आकार बढ़ता है। आमतौर पर ऐसा तीसरे महीने यानी 12 सप्ताह के आसपास होता है। इसके बाद आपको एक नई ब्रा खरीद लेनी चाहिए। वहीं इस सब के अलावा जब आपको ये लक्षण दिखाई देने लगे तो नई ब्रा खरीदने का समय हो चुका है।

. ब्रा को हटाते समय बैंड और स्ट्रैप्स के इंडेंटेशन दिखाई दें
. कप के ऊपर स्तन फैलने लगे
. ब्रा की फिटिंग टाइट हो जाए
. जब आप इसमें अनकम्फर्ट महसूस करने लगे
. सांस लेने में तकलीफ

नॉर्मल, मैटरनिटी और नर्सिंग ब्रा में क्या अंतर है?
. महिलाओं की नियमित ब्रा अलग-अलग रंगों, पैटर्न और कम्फर्ट के हिसाब से बनाई जाती है। वहीं नर्सिंग ब्रा अवर अंडरवायर और लेस ट्रिम्स के साथ कपड़े की एक परत होती है।

. नियमित ब्रा की तरह मैटरनिटी ब्रा में अंडरवायर कप नहीं होते हैं क्योंकि यह खासतौर पर नई माओं के लिए बनाई जाती है, ताकि वो आराम से फीड करवा सकें।

. नियमित ब्रा के मुकाबले नर्सिंग ब्रा में पैनल या क्लैप्स होते हैं, जिन्हें आप स्तनपान के दौरान खोलकर आसानी से फूड करवा सकती हैं। इनमें  सपोर्टिव पट्टियां, डबल लेयर्ड बैक, बैक बैंड, एक्स्ट्रा हुक और अच्छे कप कवरेज भी होते हैं।

आप तीसरी तिमाही के मध्य में नर्सिंग ब्रा स्विच कर सकती हैं क्योंकि इस दौरान ब्रेस्ट साइज बदलने लगता है।

अगर आप भी नहीं कर पा रही है प्रेगनेंसी के दौरान Bra का चुनाव, तो ये टिप्स करें फालो

पेड बदलने वाली ब्रा 
ये पेड धोकर दोबारा यूज किए जा सकते है। इनमें पेड लगाए जा सकते हैं, जिससे आपको ब्रा बार-बार बदलनी नहीं पड़ेगी। 

फीडिंग ब्रा 
इसमें पीछे ज्यादा हुक भी लगे होते हैं, जिसे आप जरूरत के हिसाब से लूज या टाइट कर सकती हैं।इनमें कप में निपल वाली जगह खोलने की सुविधा होती है, जिससे आप आसानी से फीड करवा सकती हैं।

स्लीप ब्रा 
इससे महिलाओं को सोने में भी दिक्कत नहीं होती। स्लीप ब्रा स्तन को सपोर्ट देती है और ब्रेसटफीड करवाने के लिए भी सही होती है। 

मैटरनिटी स्पोर्ट्स ब्रा
इससे ब्रेस्ट को ज्यादा आराम मिलता है। इन्हें आप योग या जिम में कसरत करते समय भी पहन सकती हैं। इनमें कप का शेप बड़ा, बीच का हिस्सा अधिक गहरा और स्ट्रेप्स चौड़े होते है। 
 

Post a Comment

From around the web