क्यों आते हैं प्रेगनेंसी में चक्कर? जानिए कारण और बचाव के तरीके

 
क्यों आते हैं प्रेगनेंसी में चक्कर? जानिए कारण और बचाव के तरीके

हैल्थ न्यूज डेस्क।। महिलाओं को पूरे गर्भावस्था के समय चक्कर आते हैं तो कइयों को कुछ महीने ये समस्या सताती है।महिलाओं के शरीर में गर्भावस्था में कई बदलाव होते हैं। इम्यूनिटी कमजोर होने से इसके साथ इस दौरान कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इनमें चक्कर आना एक मुख्य समस्या है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इससे पीछे के अलग-अलग कारण हो सकते हैं। आइए आज हम आपको प्रेगनेंसी में चक्कर आने व इससे बचाव के कुछ तरीके बताते हैं...

चक्कर आने के कारण

रक्‍त वाहिकाओं पर दबाव पड़ना
पहले 3 महीने तक प्रेगनेंसी के पहली तिमाही चक्कर आने एक आम माना जाता है। लेकिन प्रेगनेंसी की दूसरी व तीसरी तिमाही में भी बढ़ते गर्भाशय की रक्‍त वाहिकाओं पर दबाव पड़ने से यह समस्या हो सकती है।

प्रोजेस्टेरोन नामक हार्मोन के वजह
इसके कारण खून का प्रवाह शरीर में नीचे की तरह बढ़ने लगता है। शरीर में प्रोजेस्टेरोन नामक हार्मोन के कारण रक्त कोशिकाएं शिथिल यानि ढीली होने लगती है। इसके कारण महिलाओं को चक्कर आने की परेशानी झेलनी पड़ सकती है।

ब्लड प्रेशर कम होना
अक्सर  प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं का ब्लड प्रेशर लेवल कम हो जाता है। इसके कारण यह समस्या हो सकती है।

ब्लड शुगर कम होना
ब्लड प्रेशर की तरह शरीर का ब्लड शुगर स्तर कम होने पर चक्कर आने की समस्या हो सकती है।

क्यों आते हैं प्रेगनेंसी में चक्कर? जानिए कारण और बचाव के तरीके

बैठने की पोजीशन अचानक से बदलना
घंटों एक जगह बैठने के बाद अचानक पोजिशन बदलने से चक्कर आ सकते हैं।

खाने में पोषक तत्वों की कमी
ऐसे में चक्कर आने की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए डेली डाइट में आयरन, फाइबर, प्रोटीन आदि पोषक तत्व व एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर चीजें खाएं। खाने में पोषक तत्वों की कमी होने से भी एनर्जी कम हो जाती है। 

ऐसे करें बचाव...

घंटों खड़े ना रहे
आप समय-समय पर कुछ देर के लिए टहल सकती है। इस अवस्था में शरीर कमजोर होता है। ऐसे में इस दौरान लंबे समय खड़े होने से बचें। 

अचानक पोजीशन ना बदले
आप खड़े होने के लिए किसी का सहारा भी ले सकती है। इसलिए लंबे समय तक एक ही पोजीशन में ना बैठे। जैसे कि कारणों में बताया गया है कि घंटों एक ही पोजीशन में बैठने के बाद अचानक उठने से चक्कर आ सकते हैं। इसके अलावा जल्दबाजी की जगह पर धीरे व आराम से खड़े हो। 

दिनभर थोड़े-थोडे़ अंतराल में खाना खाएं
इससे शरीर में शुगर का स्तर कंट्रोल रहेगा। एक बार में भरपेट खाने की जगह पर दिनभर थोड़े-थोडे़ अंतराल में खाना खाएं। 

सही मात्रा में पानी पीएं
शरीर में पानी की कमी ना होने दें। आप इसकी कमी पूरी करने के लिए पानी से भरपूर फलों का भी सेवन कर सकती है।

Post a Comment

From around the web