जवानी में बेटी के 'बहक जाए कदम', तो माता-पिता को गुस्से में आकर कभी नहीं करना चाहिए ये 2 काम

 
s

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। आजकल लड़कियां कम उम्र में ही बड़ी होने लगती हैं। इसके लिए भौतिक कारणों के साथ-साथ सामाजिक कारण भी जिम्मेदार हैं। हार्मोन में बदलाव के कारण वह लड़कों की ओर आकर्षित होती है। इसके साथ ही सिनेमा, सीरियल भी उन्हें इसके लिए प्रेरित करते हैं। 14 से 20 साल की उम्र की लड़कियों को अपने प्राइम में प्यार हो जाता है। जब माता-पिता को इस बात का पता चलता है तो वे अपनी बेटी के भविष्य को लेकर चिंतित हो जाते हैं और एक ऐसा कदम उठाते हैं जो बाद में गलत साबित होता है। माता-पिता को क्या करना चाहिए और क्या नहीं कहना चाहिए अगर उन्हें पता चले कि उनकी बेटी किसी से प्यार करती है?

1. बेटी के साथ सख्ती न करें

जब माता-पिता को पता चलता है कि उनकी छोटी बेटी को एक लड़का पसंद है। इसलिए वे इस पर सख्त हैं। कई माता-पिता अपने स्कूल या कॉलेज जाना बंद कर देते हैं। उसके युवा से शादी करने का भी प्रयास करें। जिसके चलते लड़की विद्रोही रवैया अपनाती है। वह या तो लड़के के साथ घर छोड़ देती है। या अज्ञानता में हिंसक रुख अपनाता है। इसलिए जब माता-पिता को बेटी से जुड़ी ऐसी बातों के बारे में पता चले तो उसके साथ सख्ती करने की बजाय उसे समझाएं। जीवन में अध्ययन के महत्व को स्पष्ट कीजिए। उसे खुद को समझने का समय दें।

2. फोन से दूर न रहें

अक्सर जब माता-पिता को अपनी बेटी के बारे में ऐसी बातें पता चलती हैं तो उनका फोन उनसे छीन लिया जाता है। बाहर जाना बंद करो। उन्हें ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए। क्योंकि तब लड़कियों का अंदर ही अंदर दम घुटने लगता है। जिसकी वजह से वे खुद के साथ गलत करते हैं या अपने माता-पिता के साथ अन्याय करते हैं। ऐसी खबरें आपने रोज सुनी होंगी।

एक मां बेटी की दोस्त होनी चाहिए

कम उम्र में लड़कियों को ये नहीं पता होता है कि क्या सही है और क्या गलत। मां बेटी के ज्यादा करीब होती है। ऐसे में उसे बेटी का दोस्त होना चाहिए। दोनों को रोजाना कुछ समय साथ में बिताना चाहिए। एक मां को अपनी बेटी से अपने दिल की बात शेयर करनी चाहिए, ताकि बेटी भी खुद से जुड़ी बातें कह सके। यह इतना आसान होना चाहिए कि बेटी को लगे कि वह अपनी मां से कुछ भी कह सकती है और वह उसे समझ सकती है। इस बीच आप अपनी बेटी को भी सही और गलत में फर्क बताएं।

अध्ययन के महत्व की व्याख्या करें

अगर आपकी बेटी कहती है कि उसे एक लड़का पसंद है, तो इसे बहुत ही लापरवाही से लें। उसे बताएं कि इस उम्र में किसी के प्रति आकर्षित होना सामान्य बात है। यह हार्मोन में बदलाव के कारण होता है। लेकिन इसे प्यार नहीं समझना चाहिए। यह सिर्फ आकर्षण है। यह समय के साथ समाप्त होता है। उसे बताएं कि एक अच्छी जिंदगी के लिए प्यार के साथ-साथ एक अच्छे करियर की भी जरूरत होती है। इसलिए पहले पढ़ाई करें फिर बाकी काम। डांटने की बजाय जब आप अपनी बेटी से प्यार से बात करेंगे तो वह ध्यान देगी और अपनी पढ़ाई पर ध्यान देगी।

बेटी की सहेली पर रखें नजर

अगर आपकी बेटी सही है, तो जरूरी नहीं कि दूसरे भी सही हों। इसलिए उनके सोशल मीडिया अकाउंट्स पर नजर रखें। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि वह ज्यादा घंटे फोन पर न बिताएं। उसके बॉय फ्रेंड कैसे हैं? जब लड़की लड़के के प्रस्ताव को मानने से इंकार कर देती है तो लड़के उसे धमकाते हैं या उसके साथ दुर्व्यवहार करते हैं। ऐसे में माता-पिता को हर उस लड़के पर नजर रखने की जरूरत है जो उनकी बेटी का दोस्त है। ताकि कोई अप्रिय घटना न हो।

Post a Comment

From around the web