शातिर लडकी ने एक ही होटल में मंगेतर और ब्वॉयफ्रेंड के साथ बारी-बारी गुजारी रात, फिर किया ऐसा कि....

 
शातिर लडकी ने एक ही होटल में मंगेतर और ब्वॉयफ्रेंड के साथ बारी-बारी गुजारी रात, फिर किया ऐसा कि....

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। अफेयर किसी और से और शादी किसी और से, ऐसे वाक्यों की कोई कमी नहीं है। लेकिन प्रेमी और मंगेतर दोनों के साथ एक साथ समय बिताना कितना खतरनाक हो सकता है, इसे लखनऊ की इस घटना से समझा जा सकता है। युवती ने पहले मंगेतर के साथ एक होटल में रात गुजारी। फिर उसी होटल में बॉयफ्रेंड के साथ रात बिताई। बाद में सुबह बच्ची का शव मिला।

आधी रात को होटल में क्या हुआ?

लखनऊ का मशहूर होटल जस्ट 9 एक बच्ची की मौत के मामले में उलझा हुआ है. रविवार की रात एक अन्य युवक के साथ होटल आई युवती ने अगले दिन सोमवार की रात साथी बदल लिया। लेकिन उनका दुर्भाग्य नहीं बदला। मंगलवार सुबह वह जिंदा होटल के कमरे से बाहर नहीं निकली। सोमवार की रात बच्ची के साथ क्या हुआ किसी को नहीं पता।

एक लड़की, दो कमरे, कातिल कौन?

मृतक युवती की पहचान चंद्र त्रिपाठी के रूप में हुई है, जिसकी उम्र 25 वर्ष बताई जा रही है. चंद्रा रविवार रात करीब 11 बजे अपने मंगेतर नितिन के साथ होटल पहुंची। दोनों ने कमरा नंबर 901 बुक किया था। चंद्रा नितिन के साथ रात गुजारने के बाद सोमवार सुबह होटल से निकल गया। लेकिन सोमवार को करीब 12 बजे वह दोबारा होटल पहुंचे। इस बार उसके साथ उसका मंगेतर नहीं बल्कि उसका कथित प्रेमी सुशील था। इस बार दोनों ने एक ही होटल में कमरा नंबर 924 बुक किया था। लेकिन ये रात चांद की आखिरी रात साबित हुई।

शातिर लडकी ने एक ही होटल में मंगेतर और ब्वॉयफ्रेंड के साथ बारी-बारी गुजारी रात, फिर किया ऐसा कि....

युवती ने प्रेमी को चचेरा भाई बताया

घटना में ट्विस्ट यह है कि चंद्रा त्रिपाठी ने अपने मंगेतर नितिन को फोन किया और कहा कि वह अपने चचेरे भाई के साथ होटल में ठहरी है और रात उसके कमरे में बिताएगी। मंगलवार सुबह जब नीति ने चंद्रा को फोन किया तो उसने फोन नहीं उठाया। कई बार फोन करने के बावजूद नितिन चंद्रा से बिना बात किए ही होटल पहुंच गया। वहां कमरा नंबर 924 खाली था लेकिन बाथरूम अंदर से बंद था। होटल के कर्मचारियों की मदद से जब बाथरूम का दरवाजा तोड़ा गया तो चंद्रा का शव अंदर मिला।

प्रेमी की मौत के बाद प्रेमी फरार हो गया

होटल स्टाफ के मुताबिक सुशील खाने-पीने का कहकर होटल से निकला था लेकिन वापस नहीं लौटा। पुलिस फिलहाल मंगेतर नितिन को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है लेकिन सारा सच तभी सामने आएगा जब सुशील सामने आएगा। मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस चंद्र त्रिपाठी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

प्रेम प्रसंग का भयानक परिणाम

पूरे मामले में रहस्य यह है कि क्या सुशील वास्तव में चंद्रा का प्रेमी था। अगर ऐसा है तो उन्होंने इस रिश्ते को लेकर अपनी मंगेतर से झूठ क्यों बोला। मंगेतर नितिन से यह भी सवाल किया जा रहा है कि जब चंद्रा ने होटल के कमरे में किसी और के साथ रात बिताई तो वह चुप क्यों रहा। चंद्रमा की मृत्यु का सच चाहे जो भी हो, यह स्पष्ट है कि यदि प्रेम संबंधों की नींव झूठ और छल पर आधारित है, तो इसका अंत बहुत बुरा होगा।

Post a Comment

From around the web