नसबंदी के बाद पुरुष इस तरह से कर सकते हैं अपनी अन्तरंग लाइफ को इंजॉय

 
नसबंदी के बाद पुरुष इस तरह से कर सकते हैं अपनी अन्तरंग लाइफ को इंजॉय

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। अक्सर फैमिली प्‍लानिंग में नसबंदी का खास रोल होता है। हमेशा से ही महिलाओं को इसका जिम्‍मा सौंप दिया जाता है। कॉन्‍ट्रासेप्टिव पिल्‍स खानी हो या नसबंदी करवानी हो इन कामों के लिए मह‍िलाओं को आगे कर दिया जाता है। पुरुष हमेशा कंडोम इस्‍तेमाल और नसबंदी करवाने से बचते आए है। कभी आपने सोचा है कि पुरुष नसबंदी करवाने से क्‍यूं बचते हैं?

पुरुष नहीं चाहते है नसबंदी
नसबंदी के दौरान पुरुषों को दर्द नहीं होता है। लेकिन ज्यादतर पुरुषों को यह असहज लगता है। एनेस्थीसिया देते समय इंजेक्शन लगाने के दौरान, इंजेक्शन वाला दर्द होता है।

नसबंदी के बाद पुरुष इस तरह से कर सकते हैं अपनी अन्तरंग लाइफ को इंजॉय
नसबंदी में शुक्राणु वाहिनी नालिकाओं को बांध दिया जाता है। जिससे शुक्राणु शरीर के बाहर न‍हीं जा पाते हैं ये शरीर में ही घुलकर रह जाते हैं। इस प्रकार शरीर के स्‍वस्‍थ रहने भी सहायक होते है।
नसबंदी के बाद कुछ महीनों तक टेस्टिकल में आपको हल्का दर्द हो सकता है। लेकिन सेक्स में रुचि, इरेक्शन क्षमता, या स्खलन पर कोई प्रभाव नहीं होता।
किसी महिला में नसबंदी करने के लिए फालोपियन ट्यूब्स को काट दिया जाता है। इसे करने के लिए जनरल एनेस्थीसिया दिया जाता है। 
महिला नसबंदी की तुलना में, पुरुष नसबंदी सरल और अधिक प्रभावी है, इसमें कम जटिलताएं हैं और बहुत कम खर्चीली हैं।

Post a Comment

From around the web