सेक्स की वजह से भी आ सकती हैं छीकें - शोध

 
hm
लाइफस्टाइल डेस्क ठंड के महीने में सर्दी-जुकाम बढ़ जाता है। छींकें आने के मामले भी ज्यादा इसी महीने में होते हैं। ज्यादातर लोगों को यही पता है कि ठंड की वजह से ही या इंफेक्शन की वजह से छींक आती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि छींक आने की एक वजह सेक्स भी हो सकता है?

सेक्स के बारे में सोचना, सेक्स करना दोनों ही इसका कारण हो सकता है। इस बारे में ब्रिटेन में बाकायदा एक शोध हुआ है। शोध के अनुसार सेक्स के दौरान पैरासिंपेथेटिक ‌नर्वस सिस्टम सक्रिय हो जाता है जिससे सेक्स के बाद कई बार अधिक छींक आती है। यह शोध ऑक्सफर्ड के डॉक्टर महमूद भुट्टा द्वारा की गई है। वह ईएनटी एक्सपर्ट हैं।
JFGJ
शोध में कहा गया है कि सेक्स के दौरान जब हम सांस लेते हैं तो यह सेक्स के दौरान ज्यादा ड्राई होता है। ड्राई एयर की वजह से नाक में भी ड्राइनेस बढ़ती है। इससे इरीटेशन होता है और छींक आती है। स्टडी के अनुसार छींकने का संबंध दिमाग की उन नसों से है जो शरीर को संकेत देती हैं कि नाक में कुछ फंस रहा है जो छींकने के रास्ते ही बाहर निकल सकता है। अलग-अलग तरह की छींक के पीछे भी दिमाग के अलग-अलग तरह के सिग्नल हैं।

कई शोधो में यह साबित हुआ है कि छींकने से शरीर के हानिकारक जर्म बाहर निकलते हैं और यह प्रतिरोधी तंत्र की प्रक्रिया का जरूरी हिस्सा है। सेहतमंद जीवन के लिए छींक का आना भी जरूरी है। स्टडी के अनुसार छींक की गति प्रति घंटा 100 मील की होती है। यही वजह है कि एक छींक से करीब एक लाख शरीर के कीटाणु हवा में तेजी से फैलते हैं। छींक सिर्फ ठंड में ही नहीं धूप से भी आ सकती है। कुछ स्टडी में माना गया है कि तेज धूप से छींक की नसें सक्रिय हो जाती हैं जिससे बिना मौसम के धूप में चलते वक्त भी छींक आ जाती है।

 

Post a Comment

From around the web