इन दिनों संभोग के लिए पागल रहती हैं लड़कियां, लेना चहती हैं सबसे ज्यादा मजे…

 
इन दिनों संभोग के लिए पागल रहती हैं लड़कियां, लेना चहती हैं सबसे ज्यादा मजे…

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। एक नए शोध के मुताबिक जिस समयावधि में महिलाओं के शरीर में अंडाणु बनता है उस दौरान वह सेक्स को लेकर ज्यादा कल्पनाएं करती हैं। लेथब्रिज विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पाया कि अकेले रहने वाली महिलाएं अपने मासिक धर्म चक्र के दौरान अंडाणु के परिपक्व होने के दिनों में सामान्य दिनों के मुकाबले सेक्स के बारे में ज्यादा कल्पनाएं करती हैं । 

शोधकर्ता समांता डावसन के हवाले से लिखा है, ‘मैं कल्पनाओं का अध्ययन करना चाहती थी क्योंकि यह साथी की उपस्थिति और अनुपस्थिति से निरूद्ध नहीं होती हैं । कल्पनाओं में बढ़ोतरी और कैसे वह कल्पनाएं बढ़ती हैं दोनों बातें सेक्स में दिलचस्पी को दर्शाती हैं ।’ अपने शोध के लिए शोधकर्ताओं ने 18 से 30 वर्ष के उम्र की 27 महिलाओं का अध्ययन किया । अध्ययन के दौरान ये महिलाएं गर्भ निरोध के लिए कोई हार्मोनल दवाएं नहीं ले रही थीं और न ही उनके किसी व्यक्ति से प्रेम संबन्ध थे ।

इन दिनों संभोग के लिए पागल रहती हैं लड़कियां, लेना चहती हैं सबसे ज्यादा मजे…​​​​​​​

सभी महिलाओं को एक माह तक रोज सेक्स के बारे में अपनी कल्पनाओं के बारे में लिखना था । एक माह बाद सभी महिलाओं की डायरी का अध्ययन करने के बाद शोधकर्ता इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि मसिक धर्म चक्र के दौरान अंडाणु के परिपक्वता काल में महिलाएं सेक्स को लेकर सबसे ज्यादा कल्पनाएं करती हैं ।

Post a Comment

From around the web