धरती की इस अनोखी नदी में बहता है एक साथ पांच रंगो का पनी, एक बार देखते ही हो जाता है हर कोई दीवाना

 
धरती की इस अनोखी नदी में बहता है एक साथ पांच रंगो का पनी, एक बार देखते ही हो जाता है हर कोई दीवाना

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। आपने बारिश के मौसम में आसमान में इंद्रधनुष जरूर देखा होगा। इन्द्रधनुष में दिखने वाले सात रंगों की खूबसूरती कुछ देर के लिए दिखती है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि एक नदी ऐसी भी है जिसमें पांच रंगों का पानी इंद्रधनुष की तरह बहता है। यह सुनकर आपको हैरानी हो सकती है, लेकिन यह बिल्कुल सच है। इस नदी की खूबसूरती सभी को मंत्रमुग्ध कर देती है। इसे देखने के लिए दुनिया भर से लोग आते हैं। आइए इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

हम बात कर रहे हैं कैनो क्रिस्टल नदी की। नदी दक्षिण अमेरिका के कोलंबिया में है। नेशनल ज्योग्राफिक ने इसे ईडन गार्डन के रूप में वर्णित किया है। कैनो क्रिस्टल्स नदी न केवल कोलंबियाई बल्कि पूरी दुनिया के लोगों को चकित करती है। इस नदी में पांच अलग-अलग रंगों का पानी बहता है। इनमें पीला, हरा, लाल, काला और नीला शामिल हैं। पानी के पांच रंगों के कारण इस नदी को पांच रंगों की नदी भी कहा जाता है। इसके अलावा इसे लिक्विड रेनबो के नाम से भी जाना जाता है।

इस नदी को देखने पर यह एक खूबसूरत तस्वीर लगती है। पानी के पांच रंगों के कारण इस नदी को दुनिया की सबसे खूबसूरत नदी माना जाता है। इस तरल इंद्रधनुषी नदी की खूबसूरती जून से नवंबर के बीच देखने को मिलती है। इस महीने इस नदी को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं।

इसे देखकर आप सोच रहे होंगे कि पानी का रंग कैसे बदलता है। तो आपको बता दें कि नदी के पानी का रंग नहीं बदलता है। इसके बजाय, नदी में मौजूद एक मकाक क्लेविगेरा नामक एक विशेष पौधे के कारण नदी में पानी का रंग बदलना शुरू हो जाता है। इन पौधों की वजह से ही ऐसा लगता है मानो पूरी नदी प्राकृतिक रूप से रंगीन हो गई है। ये पौधे नदी के तल पर हैं।

इस पौधे पर जैसे ही सूरज की रोशनी पड़ती है, इसके ऊपर की धारा सूखी लाल हो जाती है। धीमी और तेज रोशनी के आधार पर इस पौधे का रंग नदी के पानी पर परावर्तित होता है। बैंगनी से लेकर चमकीले लाल तक सभी मिश्रित रंग दिन के अलग-अलग समय पर दिखाई देते हैं।

Post a Comment

From around the web